जिस युवक की हत्या हुई है वह वाराणसी के पहाड़िया का रहने वाला था रिसीवर की हत्या करके इसकी शव को सिर्फ 34 मिनट में ठिकाने भी लगा दिया गया था। हालांकि अभियुक्तों का अभी पता नहीं चला है जितने भी क्रिमिनल थे वह भी काफी शातिर थे उन्होंने जिस युवक को मारा था उसी के गाड़ी से उसकी लाश ठिकाने भी लगा दी। हालांकि जौनपुर केराकत कोतवाली क्षेत्र के थाना गद्दी चौकी अंतर्गत सुननी गांव में हत्या कर फेंके गए युवक के शव की पहचान हो गई है और पुलिस अभियुक्तों की खोज में लगी है।

जिन्होंने इस युवक की लाश को मार के ठिकाने लगाया था पुलिस का दावा है कि बहुत जल्द पुलिस उन बदमाशों के पास पहुंच जाएगी और उन्हे पकड़ लेगी। हालांकि इस बात की पुष्टि की गई है कि आरोपी जौनपुर की सीमा में 34 मिनट तक ठहरे थे जिसका साक्षात प्रमाण मार्ग पर लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज बता रही है। हालांकि पुलिस अभी भी (Hindi News) उस घटना के कारण तक नहीं पहुंच पाई है। परिवार वालों के कहने पर पुलिस छानबीन में लगातार लगी हुई है। आपको बता दे किस सोलहनी गांव में मंगलवार की सुबह खेत में युवक का शव मिला था जिसके शरीर पर ईट से मारा गया था। अभियुक्तों ने ऐसा मारा है कि युवक की पहचान भी सामने नहीं आ पा रही है चेहरे पर काफी चोट हैं जिसकी वजह से पहचान करना मुश्किल हो जा रहा है। सब जलाने का भी प्रयास किया गया था लेकिन युवक के गले में सोने की चेन और हाथ में घड़ी मौजूद थी।

लोग इस घटना को आस नई से जोड़कर देख रहे थे। कोतवाल लक्ष्मण पर्वत ने बताया कि घटनास्थल सोनी से वाराणसी जाने वाली सड़क पर लगे तीन 16 कैमरों की पड़ताल से पता चला कि घटना में वैगन आर कार का इस्तेमाल किया गया है। कार वाराणसी की तरफ से आई और 34 मिनट बाद लौट गई ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि सिर्फ 24 मिनट में यह सारे घटना को अंजाम दिया गया कारण अभी तक पुलिस को पता नहीं चल पाई है। लेकिन जल्द ही पता लग जाएगा। 

Read this: 

हिजाब विवाद समाचार: फिर उठा हिजाब विवाद पे सवाल

राजनीतिक नेता और कांग्रेस के कैप्टन अमरिंदर सिंह का जीवन परिचय।