उत्तर प्रदेश में कोरोना कर्फ्यू (UP Lockdown) की समय सीमा को बढ़ा दिया गया है। शनिवार को योगी सरकार ने 31 मई की सुबह सात बजे तक कर्फ्यू को आगे बढ़ाने का फैसला लिया है। ये कर्फ्यू पहले लगाई गई पाबंदियों के साथ ही चलेगा हालांकि जरूरी सेवाओं को इस बार भी ध्यान में रखा गया है जिसमें औद्योगिक गतिविधियां, वैक्सीनेशन, मेडिकल संबंधित कार्यों से जुड़े काम बंद नहीं होंगे । परिवहन क्षेत्र में सख्ती दिखाई गई है, रोडवेज बसों को राज्य के बाहर जाने की अनुमति नहीं है, साप्ताहिक बाज़ार इस दौरान भी पूरी तरह से बंद रहेंगे और भी कई सारी पाबंदीयो के साथ ये कर्फ्यू चलेगा।

सरकार का कहना है कि कोरोना कर्फ्यू लगाने से चेन तोड़ने में एवं संक्रमितों के नए मामलों में काबू पाने में काफी मदद मिल रही है। इससे पहले UP Lockdown को 24 मई सुबह सात बजे तक बढ़ाया गया था जिसे अब और आगे तक कर दिया गया है। कर्फ्यू का ऐलान मुख्यमंत्री की अध्यक्षता के दौरान शनिवार ‌को टीम-9 की बैठक में किया गया। योगी आदित्यनाथ ने कहा, संक्रमितों के मामले कर्फ्यू लगाने से लगातार कम हो रहे हैं और चेन तोड़ने में मदद मिल रही है। अच्छे नतीजों को देखते हुए इसे आगे बढ़ाया गया है ताकि जल्द से जल्द परिस्थिति को काबू में लाया जाए। UP Lockdown को लेकर हाल ही में सरकार ने गंभीरता दिखाई है|

टीम-9 की बैठक में सरकार ने राज्य में वैक्सीनेशन प्रक्रिया में तेजी लाने की बात को लेकर भी फैसला सुनाया। मुख्यमंत्री ने एक जून से राज्य के सभी जिलों में 18-24 साल के लोगों को वैक्सीन लगवाने का आदेश दिया है। उन्होंने कहा कि वैक्सीन इस संक्रमण से बचने का एक मात्र तरीका है| इसे ज़रूरी मानते हुए सभी लोग वैक्सीनेशन की प्रक्रिया में अपना पूरा योगदान दें। उत्तर प्रदेश में एक जून से सभी 75 जिलों में 18-24 साल के लोगों को लिए वैक्सीन लगाने की सुविधाओं को बढ़ाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अभी तक राज्य में कुल 23 जिलों में वैक्सीनेशन का काम चल रहा है। सबसे पहले एक मई से राज्य के सात जिलों 18-44 साल के लोगों का वैक्सीनेशन चल रहा था वहीं इसके बाद दूसरे चरण में 17 मई से इसे 23 जिलों में कर दिया और अब एक जून से पूरे प्रदेश में इस आयु वर्ग के लोगों को वैक्सीन लगनी शुरू हो जाएगी।

आपको बता दें, शनिवार के आंकड़ों के मुताबिक 24 घंटों में 6046 नए मामले आए हैं वहीं 17,540 लोग पूरी जांच के बाद अस्पतालों से छुट्टी लेकर घरों के लिए लौट गए हैं। राज्य में रिकवरी रेट 93.2 प्रतिशत बताया गया है। वहीं शनिवार को 226 लोग अपनी जान गवां चुके हैं।