सिंधु बार्डर पर एक आंदोलनकारी किसान ने तोड़ा दम, धरना से लौट रहे दो प्रदर्शन कारी किसानों की हुई मौत


कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी है| कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन के चलते कई किसान अपनी जान गंवा चुके हैं |सिंधु बार्डर के उषा टाॅवर के सामने प्रदर्शन कर रहे एक किसान की आज मंगलवार को मौत हो गई| 

मृतक किसान की पहचान गुरमीत के रूप में हुई | 70 साल की उम्र में किसान ने आखिरी सांस ली | बता दें, सोनीपत के सिंघु बॉर्डर पर अब तक चार किसान अपना दम तोड़ चुके हैं|

इससे पहले सोमवार की देर रात को पटियाला जिले के सफेद गाँव में एक सड़क हादसा हो गया| इस सड़क हादसे में कई किसान घायल हुए और दो किसानों की मौत हो गई |

दरअसल किसानों का जमावड़ा प्रदर्शन करके दिल्ली से ट्रैक्टर- ट्राॅली में बैठकर वापस लौट कर आ रहे थे, तभी एक ट्रक से टक्कर हो गई| इस हादसे में जान गंवाने वाले दो किसानों की पहचान एक लाभ सिंह और दूसरा गुरप्रीत सिंह के रूप में हुई | बता दें, गुरप्रीत सिंह की उम्र 23 साल और वह घर पर कमाने वाला अकेला था|