भारतीय मसालों में हल्दी एक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हुईं आई है। इसका इस्तेमाल खाने में स्वाद बढ़ाने के साथ-साथ कई तरह के रोगों से रक्षा करने के लिए भी किया जाता है। हिंदू धर्म में हल्दी को बहुत शुभ माना जाता है। इसका उपयोग किसी भी पूजा या फिर किसी शुभ कार्य के लिए किया जाता है। प्राचीन काल से ही हल्दी को जड़ी बूटी की तरह इस्तेमाल किया जाता है। ऐसा माना जाता है कि हल्दी स्वास्थय के लिए बेहद लाभकारी होती है। हालांकि इसके ज़रूरत से ज़्यादा इस्तेमाल करने पर यह काफी नुकसानदायक भी हो सकती है।  इस लेख में हम आपको इससे होने वाले फायदों और कुछ नुकसान के बारे  में बताएंगे।  


-हल्दी से होने वाले फायदें -


1- जोड़ों के दर्द और सूजन दूर करे:

हल्दी में करक्यूमिन होने की वजह से यह जोड़ो के दर्द और सूजन को जल्द दूर करने में दवाओं से भी ज्यादा मददगार होती है। हल्दी में किसी भी तरह की चोट के घाव को भरने का भी गुण है।


2-पायरिया में हल्दी के फायदे:

सरसों के तेल में हल्दी मिलाकर सुबह-शाम मसूड़ों पर लगाएं। इससे अच्छी तरह मालिश करें। बाद में गर्म पानी से कुल्ला कर लें। इस तरह मसूड़ों के सब प्रकार के रोग दूर होते हैं और हल्दी को पायरिया के लिए फायदेमंद माना जाता है। 


3 - सर्दी-ज़ुकाम और कफ की समस्या दूर करे:

हल्दी में एंटीबायोटिक और एंटीसेप्टिक गुण होते है। इसलिए सर्दी-ज़ुकाम के समय हल्दी वाला दूध पीने से हमें राहत मिलती है। वहीं सर्दी के समय इसका सेवन करना शरीर के लिए बेहद लाभकारी होता है। हल्दी वाला दूध हमारी हड्डियों को मजबूत बनाता है। 



4- वजन कम करने में मददगार:

गुनगुने दूध में हल्दी मिलाकर पीने से शरीर में जमा अतिरिक्त फैट धीरे-धीरे कम होता है। हल्दी में उपस्थित कैल्शियम और अन्य तत्व वजन कम करने में मदद करते हैं।


5- चहरे पर निखार लाएं:

दो टेबलस्पून बेसन में आधा चम्मच हल्दी, साथ ही तीन चम्मच ताज़ा दही मिलाकर लगाएं और कुछ देर बाद धो लें।   इससे चेहरे पर रंगत और निखार आती है। 


6-  रक्त शोधन में मदद करें:

हल्दी ख़ाने से रक्त में मौजूद विषैले पदार्थ खत्म हो जाते हैं। इससे रक्त संचालन अच्छा हो जाता है। 


हल्दी से होने वाले इतने सारे फायदों को देखते हुए हमें इससे होने वाले नुक्सान को भी ध्यान में रखना होगा। हल्दी का ज्यादा सेवन से हमारे शरीर को बड़ा नुक़सान पहुंचा सकता है।


हल्दी से होने वाले नुक्सान-


1-गर्भवती महीलाओं को हल्दी को सीमित मात्रा में इस्तेमाल करना चाहिए। ज़रूरत से ज़्यादा सेवन करने पर गर्भपात का खतरा हो सकता है। 


2-हल्दी की तासीर गर्म होती है इसलिए इसका उपयोग सर्दी-जुकाम में किया जाता है। तासीर गर्म होने से गर्मी में इसका सेवन भारी नुक्सान दायक हो सकता है।


3- हल्दी के ज्यादा सेवन से  उल्टी , दस्त, पेट में गर्मी, चक्कर आना जैसी समस्याएं हो सकती है।


4-डायबिटीज़ के मरीजों को सावधानी के साथ इसका सेवन करना चाहिए। हल्दी के ज़्यादा सेवन से ब्लड शुगर कम हो जाता है।


5- शरीर में आयरन की कमी से कई बिमारियां पैदा हों सकती है। अगर आपके शरीर में आयरन की कमी है तो आपको हल्दी का सेवन कम करेंना चाहिए। हल्दी का ज़्यादा सेवन शरीर में आयरन को सोखने से रोक सकता है।