देश भर में जहां एक ओर कोरोना ने बवाल मचा रखा है वहीं दूसरी ओर इससे जुड़ी चौंकाने वाली खबर सामने आ रही है। 22 अप्रैल के दिन सुबह 9 बजे के करीब हरियाणा के जींद से वैक्सीनेशन चोरी की खबर सामने आई। जींद सिविल अस्पताल के पीपी सेंटर से वैक्सीनेशन की 1710 डोज चोरी हुई है। जिसमें 1270 कोविशील्ड और 440 कोवैक्सीन शामिल थी। यही नहीं बल्कि फाइल्स भी चोरी की गई हैं। सबसे चौंकाने वाली बात तो यह है की वहाँ रखे करीब 50,000 रुपए पूरी तरह सुरक्षित पाए गए। 


22 अप्रैल की सुबह जब स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी अस्पताल पहुँचे तो उन्हें पीपी सेंटर का ताला टूटा हुआ मिला। जिसके बाद डीप फ्रीजर से कोरोना की वैक्सीन गायब दिखी। इसके तुरंत बाद ही अधिकारियों ने पुलिस को चोरी की खबर दी। सीसीटीवी फुटेज को खंगालने के बाद दो लोगों की अस्पताल के नए भवन की ओर से ग्रिल कूद के आने कि जानकारी मिली। ऐसे में अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था पर भी कई सवाल खड़े हो रहे हैं। अस्पताल में कोविड वार्ड बना हुआ है, जहाँ दिन रात सुरक्षाकर्मी तैनात रहते हैं। ऐसे में पीपी सेंटर के पास किसी तरह की सुरक्षा ना रखना अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था पर कई सवाल उठाते हैं। 


इस घटना को लेकर पुलिस सभी जरूरी सबूत जैसे फिंगरप्रिंट और अन्य सुराग इकट्ठा कर चुकी है। डीआईजी ओपी नरवाल का इस घटना को लेकर कहना है की प्रारंभिक जाँच से ऐसा अनुमान लग रहा है कि चोर वैक्सीन चोरी के इरादे से नहीं बल्कि अन्य किसी इरादे से घुसे थे। फिलहाल पुलिस जांच में लगी हुई है। इससे पहले कल भी हरियाणा से जुड़ी ऐसी ही खबर सामने आई थी जिसमें हरियाणा के गृहमंत्री ने दिल्ली पर उनका ऑक्सीजन टैंकर लूटने का आरोप लगाया था।