गाज़ियाबाद में कोरोना महामारी से हालात बद से बदत्तर होते जा रहे हैं। महानगर के सैनिटेशन, साफ-सफाई, फॉगिंग, श्मशान घाट व्यवस्था के लिए जिम्मेदार डॉ मिथलेश कुमार अधिकारी ने अपनी व्हाट्सएप डीपी पर "आई एम हेल्पलेस " लिखा है। जिसे देखकर आम लोगों का मनोबल टूट गया है। 

नगर स्वास्थ्य अधिकारी होने के चलते लोग कुमार को लगातार मदद के लिए फ़ोन कर रहे हैं। अस्पतालों में बेड और ऑक्सिजन सिलेंडर की क़िल्लत है और मंत्री व अधिकारियों की सिफारिशों पर भी मरीज़ों को भर्ती नहीं किया जा रहा है। इसी बीच कुमार की डीपी ने लोगों को हताश कर दिया है। 

कुमार ने डीपी में कहा कि, मैं अस्पताल में भर्ती कराने मरीजों को ऑक्सिजन सिलेंडर उपलब्ध कराने में असमर्थ हूँ। साथ ही उन्होंने कहा कि वह खुद बीमार हो गए हैं, उन्होंने काफ़ी लोगों की मदद की है लेकिन अब वह मदद करने में असमर्थ है। 

डॉ मिथलेश कुमार ने लोगों से अपील करते हुए कहा, घरो में रहें। बेहद ज़रूरी काम हो तभी घर से निकलें। यह समय पुरी दुनिया के लिए मुश्किलों से भरा हुआ है। 

बता दें कि गाज़ियाबाद में शुक्रवार को कोरोना के 815 नए मरीज़ मिले हैं। जिससे सक्रिय मरीज़ों की संख्या 5425+पहुंच गई है। पिछले 24 घन्टों में 5 मौतें दर्ज की गई हैं।