देश भर में कोरोना का हाहाकार दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है, इसके साथ ही कोरोना के यह बेकाबू आंकड़े लोगों का डर बढ़ा रहे हैं। 21 अप्रैल के आंकड़ों ने भारत के सारे पिछले रिकार्ड को लगभग 3 लाख पार कर एक बार फिर से पीछे छोड़ दिया है। जो ना केवल देश में बल्कि दुनिया में अब तक का सर्वोच्च आंकड़ा है। देश में यह लगातार पाँचवा दिन है, जब कोरोना से संक्रमित नए केस के आंकड़े ढाई लाख के पार गए हैं। 


22 अप्रैल के ताजा आकड़ों के अनुसार देश भर में नए कोरोना संक्रमितों की संख्या 3,14,835 दर्ज की गई है, यही नहीं मौत के आकड़ों में भी दिन-व-दिन बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। वह अब तक कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1,59,30,965 हो गई है। पिछले 24 घंटों की बात की जाए तो पूरे देश में कुल 2,104 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है, इसके साथ ही देश भर में अब तक कुल 1,84,657 लोग कोरोना से अपनी जान गवां बैठे हैं। अगर केवल अप्रैल के इन शुरुआती 22 दिनों की बात की जाए तो अब तक 37,81,630 नए मामले दर्ज किए गए हैं और कुल 22,189 लोग इस संक्रमण से मृत्यु का शिकार हुए हैं। इस बीच सरकार के आकड़ों के अनुसार देश में 22,91,428 मरीजों का इलाज जारी है। 


गौरतलब है की भारत के वर्तमान नए संक्रमितों के आकड़ों ने अमेरिका तक को पीछे छोड़ दिया है। देश में केवल संक्रमितों की संख्या में उछाल ही एकमात्र समस्या नहीं है, बल्कि ऐसी गंभीर स्तिथि में स्वास्थ्य व्यवस्था की दयनीय हालत भी चिंता का विषय है। मरीजों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी और इस बीच अस्पतालों में बेड्स व ऑक्सीजन की कमियों से लड़ना एक बड़ी चुनौती की तरह है।