देश में कोरोना कि रफ्तार एक बार फिर तेज हो गई है। आज भारत में कुल 90 हजार के करीब नए मामले सामने आए हैं। देश में महाराष्ट्र समेत कुछ राज्यों में हालात एक बार फिर से बेकाबू होते दिखाई दे रही हैं। छत्तीसगढ़ में कोरोना की दूसरी लहर ने अपना प्रचंड रूप धारण कर लिया है। यहाँ दुर्ग जिले में कोरोना काबू से बाहर होता हुआ नजर आ रहा है। यहां दुर्ग में कोरोना की वजह से मौत का आंकड़ा काफ़ी तेजी से बढ़ता जा रहा है। जिस कारण से श्मशान घाटों में शवों के अंतिम संस्कार के लिए जगह कम पड़ रही है। 


बेकाबू कोरोना पर काबू पाने के लिए छत्तीसगढ़ सरकार और प्रशासन अपना हर संभव कोशिश का दावा कर रही है, लेकिन फिलहाल स्थिति नियंत्रण से बाहर होती हुई नजर आ रही है। आज जिला अस्पताल, दुर्ग की मोर्चरी के संबंध में कुछ खबरें व तस्वीरें सामने आई। गंभीर मरीजों को अस्पताल में ऑक्सीजन बेड नहीं मिल रहे हैं। वहीं रोजाना बढ़ने वाली मौतों की संख्या की वजह से मोर्चरी के फ्रीजर में भी शवों को रखने की जगह नहीं है।


दुर्ग के जिला प्रशासन ने सम्पूर्ण लॉक डाउन का आदेश जारी कर दिया है। दुर्ग में 6 से 14 अप्रैल तक संपूर्ण लॉकडाउन रहेगा। वहीं बेमेतरा जिले की सभी सीमाओं पर दोपहर 2:00 बजे के बाद लॉकडाउन लगाया जाएगा। प्रशासन ने प्रदेश के कई जिलों में साप्ताहिक बाजारों पर भी रोक लगा दी है। वहीं राज्य के 20 जिलों में लाइट कर्फ्यू लगाया गया है।