9 दिसंबर को राष्ट्रपति से मिलेंगे शरद पवार, किसान आंदोलन से कराएंगे अवगत

न ए कृषि कानूनों के विरोध में किसान आदोंलन में राष्ट्रवादी कांग्रेस  पार्टी  (राकांपा) प्रमुख शरद पवार 9 दिसंबर को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात करेंगे | इस बात की जानकारी रविवार को पार्टी की ओर से दी गई| राकांपा पार्टी  के प्रवक्ता महेश तापसे ने कहा कि पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री शरद पवार न ए कृषि कानूनों के विरोध में जारी किसानों के प्रदर्शन के मद्देनजर राष्ट्रपति से मिलेंगे और उन्हें  देश के हालात से अवगत कराएंगे |

शनिवार को सरकार और किसान  के बीच पांचवे दौर की बैठक बेनतीजा रही | पांच घंटे चली बैठक में कोई समाधान नहीं निकला | दोनों पक्ष अपनी अपनी बात पर अड़े रहे, किसान कानूनों को वापस लेने की बात पर अड़े रहे, फिर तय हुआ अब  सरकार और किसान के बीच 9 दिसंबर को छठवें दौर की बैठक होगी |

राष्ट्रीय राजधानी पर डटे हजारों  किसान प्रतिनिधि न ए कृषि कानूनों को वापस लेने की बात पर अड़े है | किसानों का कहना है जब तक सरकार इन कानूनों को वापस नहीं लेगी, तब तक हम धरने पर बैठे रहेंगे, इसके साथ किसानों ने 8 दिसंबर को भारत बंद का भी आह्वान  किया|

वहीं, किसान नेता बलदेव सिंह ने कहा  अब ये आंदोलन सिर्फ पंजाब ही नहीं, बल्कि पूरे देश में  बढ़ चुका है, भारत बंद के आह्वान से  सरकार तिलमिलाई हुई है। किसान नेताओं ने कहा कि 8 दिसंबर को सुबह से शाम तक बंद होगा। चक्का जाम 3 बजे तक होगा। एम्बुलेंस और शादियों के लिए रास्ता खुला रहेगा, शांतिपूर्ण प्रदर्शन रहेगा |