क्यों है यह मछली खास-वैसे तो वैज्ञानिकों को समुंदर की गहराइयों में अनेक प्रकार की मछलियां मिलती ही रहती है लेकिन इस मछली के खास होने का कारण इसके शरीर पर मौजूद इंद्रधनुष रंग के होने से है। यह पूरे विश्व में रेनबोफिश के नाम से मशहूर हो रही है।

किस जगह मिली है मछली- नेशनल ओशिएनिक एंड एटमॉस्फियरिक एडमिनिस्ट्रेशन के मुताबिक यह रेनबोफिश पश्चिमी हिंद महासागर में पाई जाती है। वैज्ञानिकों का मानना है कि पानी में लगभग 160 से 500 फीट के बीच मूंगा पत्थरों में यह मछली रहती है। जहां यह (rainbow fish) रेनबोफिश रहती है उसे एरिया को ट्विलाइट जोन भी कहा जाता है। आपको बता दें कि वैज्ञानिकों ने इस मछली का ऑफिशियल नाम रोज वील्ड फेरी रास रखा है जो कि मालदीव के राजकीय फूल पर आधारित है वहीं इस मछली का साइंटिफिक नाम (cirrhilabrus finifenmaa) रखा है।

Read this: 

Heart-Attack से बचने के उपाय क्यों लोग अक्सर बीमार पड़ते हैं

भगत सिंह के शहीद दिवस पर जानते हैं, उनके जीवन के किस्से