देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर की पीक अभी तक आई भी नहीं और तीसरी लहर की चेतावनी मिल गई है। बुधवार को केंद्र सरकार के मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार विजय राघवन ने चेतावनी देते हुए कहा कि देश में कोरोना की तीसरी लहर आएगी। लेकिन तीसरी लहर कब आएगी इसका उन्होंने कोई वक़्त नहीं बताया। उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर इतनी डरावनी और लंबी होगी इसका अनुमान नहीं लगाया गया था इस वजह से केंद्र सरकार और राज्य सरकारों को तीसरी लहर के लिए तैयार रहना होगा। 


अपने प्रेस कॉन्फ्रेंस में विजय राघवन में कहा कि यह वायरस अभी अधिक मात्रा में सर्कुलेट हो रहा है और तीसरी लहर का आना निश्चित है, लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि यह कब आएगी। उन्होंने कहा कि हमें तीसरी लहर के लिए तैयारी करनी चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना वायरस के स्ट्रेन पहले के स्ट्रेन की तरह फैल रहे हैं, इनमें कोई भी नई तरह के संक्रमण का गुण नहीं पाया गया है। उनका यह भी मानना है कि मौजूदा सभी वेरिएंट्स पर कोरोना के वैक्सीन प्रभावी दिख रहे हैं। देश और दुनिया में नई वेरिएंट्स आएंगे लेकिन अगर हम एक लहर खत्म होने के बाद सावधानी नहीं बरतेंगे तो वायरस को फिर से फैलने का मौका मिल सकता है। 


कुछ राज्यों में कोरोना के नए केस ने आई कमी

केंद्र सरकार ने कहा कि कुछ राज्यों में कोरोना के नए केसों में कमी देखने को जरूर मिली है लेकिन पूरे देश में 12 राज्य अभी भी ऐसे हैं जहां एक लाख से अधिक सक्रिय मामले हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव ने कहा कि 10 राज्यों में पॉजिटिविटी रेट 25 फीसदी से अधिक है और इन राज्यों में हमें और भी काम करने की जरूरत है।