आनंद विहार बस अड्डे से ऑटो और कार में सवारियों के साथ लूट-पाट की वरदातें सामने आ रही हैं। शेयरिंग ऑटो में पहले से ही सवारी बनकर बैठे होते हैं लूटेरे और लोगों को लूटकर मार रहे हैं गुनेहगार। चाकू और बन्दूक की नोक पर लोगों से पैसे और कीमती सामान चुरा रहे हैं और विरोध करने पर मार-पीटकर उन्हें सड़क पर फेंक रहे हैं। 


पुलिस कई गैंग को पकड़ चुकी है, पर ये लूट की वारदातें थमने का नाम ही नहीं ले रही। दिल्ली के कई इलाकों जैसे - शास्त्री पार्क, धौला कुआँ, कश्मीरी गेट बस अड्डा, महारानी बाग, सराय काले खां और इन इलाकों के आसपास इस प्रकार की घटनाएं घाट रही हैं।


11 जनवरी को हुई एक वारदात का यहाँ उदाहरण देते हैं - कल्याण सिंह नामक व्यक्ति व्यवसाय के काम से 40 हज़ार रुपये लेकर दिल्ली आये। आंनद विहार बस अड्डे से जब शेरिंग कैब में बैठे तो तीन लड़कों ने उनका पैसे और सारा सामान छीन लिया। ये तीनों लड़के पहलेे सेे ही कैब में बैठे थे।


कल्याण सिंह के मना करने पर बदमाशों ने उन्हें पीटा और बेहोशी की हालत में देर रात तक सड़क पर घुमाते रहे और जब लगा कि वे मर गए हैं तो उन्हें झाड़ियों में फेंक दिया। खजुरी खास थाने पुलिस ने लूट का मुकदमा दर्ज किया है।