कोरोना महामारी ने आज भारत में हर राज्य को अपने चपेट में ले लिया है। आज हर एक राज्य बड़े पैमाने पर इससे संक्रमित हो रहे हैं। वहीं दूसरी लहर का फैलाव इतना तेज़ है कि बड़ी संख्या में लोग इससे प्रभावित हो रहे हैं। कोरोना का ये खौफनाक मंजर केरल में भी देखने को मिला, बुधवार को राज्य में 24 घंटे के अंदर 41,953 मामले आए हैं। जो अभी तक राज्य के रिकॉर्ड को तोड़ते नज़र आ रहे हैं। कोरोना की ऐसी स्थिति को देखते हुए राज्य के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने 8 मई से 16 मई तक संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा कर दी है। हालांकि इस दौरान सभी ज़रूरी सेवाएं खुली रहेंगी और इमरजेंसी काम आप कर पाएंगे।

यह जानकारी केरल के मुख्यमंत्री कार्यालय ने गुरुवार को ट्वीट कर दी और कहा, सीएम ने पूरे राज्य में 8 मई की सुबह 6 बजे से 16 मई तक संपूर्ण लॉकडाउन का ऐलान किया है। सीएम ने प्रदेश की स्थिति को बेहद गंभीर बताया है। उन्होंने कहा है इस लॉकडाउन से  कोरोना की दूसरी लहर को और फैलने से रोकना है। बता दें पहले भी राज्य में बढ़ते मामलों के साथ सरकार ने कई पाबंदियां लगाई थी। लेकिन बुधवार को हुए कोरोना के इस विस्फोट ने सरकार को संपूर्ण लॉकडाउन लगाने पर मजबूर कर दिया।

पीएम ने बुधवार को कहा था, कोरोना की लड़ाई से निपटने के लिए वार्ड स्तर की चीजों को मजबूत करना होगा। जिसके लिए मेडिकल की पढ़ाई कर रहे विद्यार्थियों को और सरकारी अधिकारियों को कोरोना के कार्य में मजबूती लाने के लिए तैनात करने का निर्णय लिया गया है। साथ ही पिनराई विजयन ने कहा संक्रमण को रोकने के लिए और कड़े कदम भी उठाए जाएंगे। आपको बता दें, देश में 24 घंटे में 4 लाख , 12 हजार,  262 नए मामले आए हैं, वहीं 3,980 लोगों की मौत हुई है। भारत में एक्टिव केस की संख्या 35 लाख 66 हजार दर्ज किए गए हैं।