राजस्थान के धौलपुर जिले से ऐसी घटना सामने आई है जो साबित करती है कि हैवानों के लिए ना उम्र मायने रखती है और ना ही कपड़े, मायने रखता है तो सिर्फ उसका हवस। मामला धौलपुर जिले के बसईडांग थाने इलाके का है जहाँ 11 साल की नाबालिक को अकेला पाकर एक युवक ने उसके साथ जबरदस्ती करने की कोशिश की। जब नाबालिक ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाने लगी तो उसकी आवाज़ सुनकर उसकी बहन आई और उसे बचा लिया। लेकिन इस दौरान आरोपी फरार हो गया।

बच्चियों ने यह बात अपनी मां को बताई, जिसके बाद मां ने नज़दीकी पुलिस थाने में मामला दर्ज कराया। पुलिस ने कई धाराएं लगाकर आरोपी के ख़िलाफ़ मामला दर्ज कर लिया है और बच्ची का मेडिकल करवा कर जांच शुरू कर दी है।

पीड़ित नाबालिक की मां ने पुलिस को दी जानकारी में बताया कि मेरी बच्ची 11 साल की है। हमारे पशुओं को पानी पिलाने के लिए वह चंबल नदी गई थी। जब वह पशुओं को पानी पिलाने के बाद घर लौट रही थी तो रास्ते में आरोपी विनोद ने उसे जबरदस्ती पकड़ लिया। आरोपी विनोद ने उसकी पिटाई की और उसके बाद उसके कपड़े उतार कर उसके साथ दुष्कर्म करने की कोशिश करने लगा। नाबालिक बच्ची जब ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाने लगी तो उसकी बहनों ने उसकी आवाज़ सुनी, जो चंबल नदी पर ही पानी भरने आई थी। बहनें दौड़ कर घटनास्थल पर आई। मां ने आगे बताया कि बहनों के घटनास्थल पर पहुंचते ही आरोपी विनोद वहाँ से फरार हो गया। नाबालिक बच्ची अपनी बहनों के साथ घर पर आई और परिजनों को सारी बातें बताई। जिसके बाद परिजन बच्ची को लेकर बसईडांग पुलिस थाने पहुंचे और नाबालिक बच्ची की मां ने आरोपी विनोद के ख़िलाफ़ मामला दर्ज करवाया। 

पुलिस ने आरोपी विनोद के ख़िलाफ़ धारा 376/511, 341, 323 व 7, 8 पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है। साथ ही नाबालिक बच्ची का मेडिकल बोर्ड से मेडिकल भी करा दिया है। अब पुलिस आरोपी की तलाश में जुट गई है।