Punjab में विधानसभा चुनाव से पहले Congress Party में चल रहा विवाद अभी थमा नहीं है.  इसी विवाद के बीच कांग्रेस नेता Navjot Singh Sidhu रविवार को राज्य मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा समेत पार्टी के छह विधायकों के साथ पटियाला स्थित विधायक Madanlal के आवास पर पहुंचे.  बताया जा रहा है कि सिद्धू यहां कांग्रेस में चल रहे विवाद को खत्म करने पहुंचे हैं.  Captain Amrinder Singh और Navjot Singh Sidhu के बीच हुए विवाद के चलते नेताओं से उनकी मुलाकात का दौर जारी है।

Navjot Singh Sidhu ने इससे पहले राज्य के कांग्रेस विधायकों के साथ भी बैठक की थी।  उधर, मुख्यमंत्री Captain Amrinder Singh ने भी अपने करीबी मंत्रियों और विधायकों और सांसदों के साथ बैठक की.

इससे राज्य की सियासत गरमा गई है।  दोनों नेताओं के बीच कलह को सुलझाने के लिए कांग्रेस पार्टी के कई बड़े नेताओं ने भी दोनों से बातचीत की है.  इसी सिलसिले में पिछले दिन भी पंजाब प्रभारी हरीश रावत ने अमरिंदर सिंह से मुलाकात की थी।

Navjot Singh Sidhu को पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी दी जा सकती है।  पंजाब कांग्रेस में संभावित सांगठनिक बदलाव को लेकर राजनीतिक चर्चा के बीच सूत्रों ने कहा कि पार्टी की राज्य इकाई में दरार को जल्द ही सुलझा लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि Navjot Singh Sidhu पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी (पीपीसीसी) के प्रमुख का पद संभालेंगे।

सूत्रों ने बताया कि Navjot Singh Sidhu पार्टी की पंजाब इकाई के अध्यक्ष होंगे, जबकि उनके साथ चार कार्यकारी अध्यक्षों की नियुक्ति की जाएगी।  सिद्धू के पीपीसीसी अध्यक्ष बनने पर कांग्रेस विधायक परगट सिंह ने कहा कि उन्हें लगता है कि स्थिति अच्छी है।  हालांकि माना जा रहा है कि रविवार यानी आज इसकी घोषणा की जाएगी।

पंजाब कांग्रेस में सत्ता को लेकर खींचतान करीब एक महीने से चल रही है। Navjot Singh Sidhu ने राज्य में बिजली संकट की आलोचना कर राज्य सरकार के खिलाफ खुलेआम बगावत कर दी।  कांग्रेस नेतृत्व अगले साल की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले दरार को सुलझाने की कोशिश कर रहा है।