पंजाब के मोगा जिले के गांव मानूके में गुरुवार शाम को सरपंच के बेटे ने दो सगी बहनों की गोली मारकर हत्या कर दी दोषी की दोनों बहनों पर काफ़ी समय से गलत निगाह थी जब बहनों ने उसकी बात नहीं मानी और उसके मंसूबे नाकाम हो गए तो सरपंच के बेटे ने तैश में आकर दोनों बहनों की गोली मारकर हत्या कर दी।

मामला पुलिस तक पहुंचा और महज चंद घंटों में पुलिस ने मामला सुलझा कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया साथ ही इस्तेमाल की गई ऑल्टो कार और लाइसेंसी 32 बोर की रिवाल्वर (जोकि उसके पिता की थी) भी बरामद कर ली

डीएसपी प्रसन्न सिंह ने बताया कि गुरुवार शाम को उन्हें एक सूचना मिली कि दो लड़कियों को एक संदिग्ध ने सड़क पर गोली मारकर फेंक दिया और मौके से फरार हो गया घायलों को अस्पताल ले जाया गया। जिसमें से एक अमनदीप कौर ने पहले ही दम तोड़ दिया और दूसरी कमलप्रीत कौर ने देर रात को दम तोड़ दिया। जिसके बाद पुलिस ने एक अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज किया था जाँच के दौरान पता चला कि आरोपी सरपंच का बेटा है। इससे पहले आरोपी कि छेड़छाड़ के मामले में पंचायत के सामने खड़ा किया गया था इसी का बदला लेने के लिए उसने दोनों लड़कियों को गोली मार हत्या कर दी