विश्व प्रसिद्ध बैंड मिट्टन खिलाड़ी और अभिनेत्री दीपिका पादुकोण के पिता प्रकाश पादुकोण को कोरोना से पीड़ित होने के बाद बेंगलुरु के भगवान महावीर जैन अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मीडिया रेपोर्ट्स के मुताबित एक करीबी सूत्र ने खबर की पुष्टि कि है और कहा कि उन्हें कुछ दिन पहले ही अस्पताल में भर्ती कराया गया था और फिलहाल उनका स्वास्थ्य पहले से बेहतर है। अच्छे स्वास्थ्य के मद्देनजर उन्हें इस सप्ताह अस्पताल से छुट्टी मिलने की उम्मीद है।

एबीपी न्यूज को यह भी जानकारी मिली है कि दीपिका पादुकोण के पिता प्रकाश पादुकोण के अलावा उनकी मां उज्ज्वला पादुकोण और बहन अनीशा पादुकोण में भी कोरोना के लक्षण पाए गए थे, लेकिन फिलहाल दोनों ठीक हैं और दोनों घर पर हैं।

आपको बता दें कि प्रकाश पादुकोण ने हाल ही में कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक ली थी और वह दूसरी डोज़ लगवाने के इंतजार में थे, लेकिन इससे पहले ही वह इस वायरस कि चपेट में आ गए, जिसके बाद उनकी तबीयत बिगड़ने पर अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा।

उल्लेखनीय है कि प्रकाश पादुकोण कि पहचान केवल दीपिका पादुकोण के पिता के तौर पर ही नहीं है। आपको जानकारी हो कि 65 वर्षीय पूर्व बैडमिंटन खिलाड़ी प्रकाश पादुकोण को 1980 में बैडमिंटन की खेल में दुनिया की पहली रैंकिंग मिली थी। उसी साल उन्होंने ऑल इंग्लैंड ओपन बैडमिंटन चैंपियनशिप का खिताब भी जीता था। वह यह खिताब जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी थे। यही नहीं, 1978 में कनाडा में आयोजित कॉमन वेल्थ गेम्स में, बैंडमिंटन के सिंगल्स मुकाबले मेंं भी  प्रकााश पादुकोन ने स्वर्ण पदक जीता। विश्व बैंडमिंटन के क्षेत्र में प्रकाश पादुकोण की उपलब्धियों की सूची काफ़ी लंबी है।

प्रकाश पादुकोण को 1972 में प्रतिष्ठित खेल पुरस्कार अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। इसके अलावा, उन्हें 1982 में भारत सरकार द्वारा पद्म श्री पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया है।