दिल्ली में बिगडते हालातो को देखकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी जताई लॉकडाउन की संभावनाएं।

दिल्ली में चौथी लहर के चलते तालाबंदी का खतरा बढ़ता जा रहा है। इस डर पर मोहर लगाते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि, "अगर अस्पतालों में स्थिति खराब होती है तो लॉकडाउन लगाना होगा। साथ ही उन्होंने लोगो से अपील भी करते हुए कहा कि, बेहद ज़रूरी काम हो केवल तभी अपने घरों से बाहर निकले "। हालांकि बहुत सारी प्रेसवार्ता में अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि, लॉकडाउन नही लगाया जाएगा केवल कुछ पाबन्दियों को लागू किया जाएगा। परन्तु इस बार के बयान में ये साफ हो गया कि, लॉकडाउन भी लगाया जा सकता है। आंकड़ो की बात करे तो दिल्ली में 10 हज़ार से ज़्यादा कोरोना मामले दर्ज किए गए है। लेकिन खुशी की बात ये भी है कि, वैक्सीनेशन तेज़ हो गया है और लगभग 20 लाख से भी ज़्यादा लोग वैक्सीनेशन करवा चुके हैं। 

दिल्ली वासियो के लिए ये ज़रूरी है कि वे नाईट कर्फ्यू का पालन करें क्योंकि अगर नाईट कर्फ्यू सफल नही हो पाया तो आखिर में सरकार को लॉकडाउन लगाना पड़ सकता है। कोरोना महामारी से सुरक्षा और सावधानी अपने हाथ मे है।