देश कीराजधानी दिल्लीकी एक अदालत ने विगत गुरुवार को उत्तर पूर्वी दिल्ली में हिंसा के मामले में शामिल शरजील इमाम के वायस सैंपल लेने के लिए पुलिस को ऑर्डर दे दी है। दिल्ली पुलिस शरजील इमाम की आवाज की तुलना आसनसोल और बिहार में कथित तौर पर उनके द्वारा दिए गए भड़काऊ भाषण के वीडियो से करना चाहती है। उन्होंने अपने भाषण को सिर्फ बिहार तक ही सीमित नहीं रखा बल्कि यह दिल्ली के जेएनयू मैं भी जाकर गांधीजी के खिलाफ कथित भड़काऊ भाषण दिया था। जिसमें उन्होंने कहा था कि नाथूराम गोडसे ने अगर गांधीजी को मारा तो वह अच्छा किया उनकी मौत इसी तरह होनी चाहिए थी। इसी तरीके की तमाम चीजें जो शामिल इमाम के द्वारा भाषण में कही गई थी।

इन्होंने मुंबई से पीएचडी भी किया है इन्होंने पीएचडी में इक्नॉमी और इतिहास लिया था। इन्होंने इतिहास में महारत हासिल की है। लेकिन क्या इसका मतलब यह नहीं होता कि हम अपने देश के महान हस्तियों और देश भक्तों के ऊपर ही उंगलियां उठाएं। लोगों का कहना है कि यह एक पढ़े लिखे व्यक्ति की निशानी हो ही नहीं सकती क्योंकि जिस इंसान के पास ज्ञान नहीं वह पशु समान होता है। वहीं अदालत ने शामिल इमाम की जमानत याचिका पर आदेश शुक्रवार के (दिल्ली दंगा केस) लिए टाल दिया है। इसके अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश अमिताव रावत ने विगत गुरुवार को शरजील इमाम की आवाज का एक नमूना प्राप्त करने की अनुमति के लिए अभियोजन पक्ष द्वारा दायर आवेदन को स्वीकार कर लिया है।

पुलिस का कहना है कि अगर हम शरजील इमाम की इस वायस सैंपल को ले लेते हैं तो हमें इस केस को सॉल्व करने में मदद नहीं मिल सकती है। अदालत (दिल्ली न्यूज) ने निर्देश दिया कि पुलिस सीबीआई ने दिल्ली के साथ संबंध में करेगी और आरोपी की आवाज के नमूने प्राप्त करने के लिए एक समय और तारीख तय करेगी और अदालत को इसके बारे में सूचित करेगी ताकि उक्त उद्देश्य के लिए आरोपी के प्रोडक्शन वारंट जारी किए जा सके। क्योंकि आरोपी शरीर इमाम ने 22 से 23 जनवरी के बीच 2020 को आसनसोल, पश्चिम बंगाल, और चाकन, गया बिहार में भड़काऊ भाषण दिए यूट्यूब और फेसबुक पर अपलोड किए गए उनके भाषणों को डाउनलोड कर और जब कर लिया गया था। पुलिस ने बताया की आज उसी सबूत को इकट्ठा करने के लिए आवाज की सैंपल लेने की आवश्यकता पड़ी है। ताकि केस को अच्छे से सॉल्व किया जा सके।

यह भी पढ़ें-

वाराणसी लोगों के लिए राहत मिल जाएगी ट्राफिक प्रॉब्लम से मुक्ति

नवाज शरीफ ने इमरान खान पर लगाया देश बर्बाद करने का आरोप।