देश में कोरोना की दूसरी लहर 3 गुना तेज़ी से बढ़ रही है। हर तरफ हाहाकार मचा हुआ है। संक्रमण के नए मामले हर दिन नया ही रिकॉर्ड बना रहे हैं। राज्यों से बेड्स और ऑक्सीजन की किल्लत की खबरें भी आ रही हैं। इन्हीं सब समस्याओं को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार सुबह से बैठक कर रहे हैं।

बैठक की प्रक्रिया सुबह 11:30 बजे से ही शुरू हो गई थी। जिसमें पीएम मोदी ने कोरोना संकट को लेकर सबसे पहले वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बातचीत की और ताज़ा हालातों पर चर्चा भी किया। 

शाम 4:30 बजे प्रधानमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिए देश के बड़े डॉक्टरों के साथ संवाद किया और अब 6 बजे से उनकी बैठक देश की बड़ी फार्मा कंपनियों के साथ शुरू हो चुकी है। जिसमें प्रधानमंत्री देश की कोरोना से हो रही जंग के मौजूदा हालत को लेकर तैयारियों को परखेंगे।

बता दें कि देश के कई अस्पतालों में इस वक्त बेड्स की भारी कमी चल रही है, ऑक्सीजन को लेकर दिक्कतें हो रही हैं और साथ ही रेमडेसेविर इंजेक्शन को लेकर मारामारी भी चल रही है। 

राजधानी की हालत देखी जाए तो बेड्स की भारी कमी के साथ-साथ आईसीयू बेड्स की मात्रा भी सौ के आसपास ही बची है। राज्य ने केंद्र सरकार से अतिरिक्त ऑक्सीजन की मांग की है और साथ ही केंद्र सरकार के अस्पतालों में बेड्स बढ़ाने की अपील भी की है।

वहीं दिल्ली की तरह महाराष्ट्र का हाल भी बेहाल ही चल रहा है। कई अस्पतालों में बिल्कुल भी बेड्स और ऑक्सीजन नहीं है। यहां भी राज्य सरकार ने केंद्र सरकार से ऑक्सीजन की मांग की है, लेकिन दोनों सरकारों के बीच ऑक्सीजन की सप्लाई को लेकर राजनीतिक बयानबाजी चल रही है। 

अब बस इंतजार इस बात का है कि पीएम मोदी की आज की बैठक का क्या नतीजा निकलता है और देश को इस महामारी से बचाने के लिए क्या नए कदम उठाए जाते हैं।