कोरोना से बिगड़ते हालात के बीच प्रधानमंत्री मोदी ने आज एक बार फिर से देश को संबोधित किया। प्रधानमंत्री ने कोरोना से बिगड़ते हालात समेत अन्य कई मुद्दों पर बातें की। 


पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर देश में तूफान बन कर आई है। उन्होंने कहा कि जो कष्ट आप सह रहे हैं मुझे उसका एहसास है। पीएम मोदी ने सभी कोरोना योद्धाओं की सराहना की और उन्होंने कहा कि बीते दिनों में जो कदम उठाए गए हैं इससे कोरोना की स्थिति सुधरेगी। 


पीएम मोदी ने कहा की देश में जागरूकता से लॉकडाउन से बचा जा सकता है। उन्होंने कहा कि देश को लॉकडाउन से बचाना है। राज्य सरकार भी लॉकडाउन  को आखिरी विकल्प समझे। उन्होंने बच्चों से आग्रह किया कि कोरोना में ऐसा माहौल बना है कि बिना काम और बिना जरूरी कारण कोई भी अपने घरों से बाहर ना निकले। देश को lockdown से बचाना है। 


प्रधानमंत्री ने ऑक्सीजन की डिमांड पर बात करते हुए कहा कि हर जरूरतमंदों तक ऑक्सीजन पहुंचाने की कोशिश की जा रही है। राज्यों को ऑक्सीजन पहुंचाने का हर संभव कोशिश किया जा रहा है। उन्होंने भारत के फार्मा सेक्टर कि तारीफ करते हुए कहा कि हमारा देश का फार्मा सेक्टर मजबूत है हम दवाई कंपनी से हर संभव मदद ले रहे हैं। 


पीएम मोदी ने कहा कि भारत में दुनिया की सबसे सस्ती वैक्सीन उपलब्ध की गई है। भारत में दो कंपनियों को वैक्सीन के साथ दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान की शुरुआत की गई। दुनिया में सबसे तेज 10 करोड़ वैक्सीन डोज लेने वाला देश भारत ही है। 


मजदूरों के पलायन पर बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि राज्य प्रशासन श्रमिकों को भरोसा दिलाएं जिससे वह पलायन ना करें। पीएम मोदी ने कहा कि वैक्सीन के अभियान में तेजी लाई गई है। गरीबों को श्रमिकों को भी बहुत जल्द वैक्सीन मिलेगी और इस दौरान उनका काम भी चलता रहेगा।