भारत में बढ़ते कोरोना को देखते हुए कई देशों ने भारत से आने जाने वालों पर रोक लगा दी है। जिससे उनके देश की स्थिति भारत जैसी ना हो। ऐसी ही खबर ऑस्ट्रेलिया से भी आई थी कि वहाँ की सरकार ने भारत से जाने वाले ऑस्ट्रेलियाई नागरिकों के लिए कड़ी पाबंदियों के साथ जुर्माना भी लगाया है। जिसके बाद सोमवार को ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री ने अपने बचाव में कई बातें कहीं। आपको बता दें, भारत से जाने वाले ऑस्ट्रेलियाई नागरिकों को पाँच साल की जेल की सज़ा देने के लिए कहा गया है या फिर 66000 डॉलर जुर्माना देना पड़ेगा। यह प्रतिबंध उन लोगों पर भी लगाया गया है जो लोग केवल 14 दिनों के लिए भारत में रुके हैं। 

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री ने कहा यह फैसला लेना बहुत कठिन था, लेकिन देश की सुरक्षा के लिए इसे लेना पड़ा। हमे देश में कोरोना की तीसरी लहर आने से रोकना है वहीं क्वारंटाइन व्यवस्था को और मजबूत बनाना होगा। साथ ही प्रधानमंत्री ने भारत के लिए चिंता भी जताई। उन्होंने बताया कि होवार्ड स्प्रिग परिसर में भारत से आए कई लोगों पर संक्रमण दिखाई दिया है। वहीं ऑस्ट्रेलियाई विपक्षी नेता एंथोनी अल्बानी ने अपने ही लोगों पे पाबंदी लगाने या जुर्माना लगाने पर सरकार व प्रधानमंत्री के इस निर्णय के प्रती कड़ी आलोचना की है।