कोरोना से बिगड़ते हालात के बीच अस्पतालों में मरीजों को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। कहीं ऑक्सीजन की कमी हो रही है तो कहीं बेड की। इन्हीं सब के बीच शुक्रवार को एक ऑक्सीजन टैंकर के गायब होने की खबर आई है। बुधवार को पानीपत रिफाइनरी से निकले  मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन से भरे टैंकर दिल्ली और सिरसा के लिए निकले थे जिनमें से सिरसा भेजा गया टैंकर रास्ते से गायब हो गया। टैंकर चलाने वाले ड्राइवर का भी कुछ पता नहीं चला। बताया जा रहा है कि पानीपत से निकले टैंकर चालक का कुछ देर बाद ही फोन स्विच ऑफ आ रहा था और उससे कोई संपर्क नहीं हो पाया। पानीपत पुलिस को शिकायत कर केस दर्ज किया गया है और अब  पुलिस की टीम टैंकर की तलाश कर रही हैैं।

               बता दें, ऑक्सीजन टैंकर सिरसा के कोविड अस्पताल में आना था। इस घटना के बाद ऑक्सीजन एजेंसी के बाहर भी पुलिस तैनात की गई है। जिन राज्यों में कोरोना के ज्यादा केस मिल रहे हैं , उन्हीं राज्यों में ऑक्सीजन की कमी भी सुनने में आ रही है। अस्पतालों में ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी सुनने में आ रही हैं , लोगों को लम्बीं लाइन में लगने के बाद भी ऑक्सीजन नसीब नहीं हो रही है। हालांकि सरकार भी रोज इस कमी को पूरा करने के लिए मंत्रीयो के साथ बैठक कर रही है और राज्यों में ऑक्सीजन भेजने का प्रयास कर रही है। ऑक्सीजन की कमी के चलते कई लोगों ने अपनी जान गवा दी है । ऑक्सीजन की कालाबाजारी भी अपने चरम पर है। 


ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने मे सरकार पूरी तरह विफल हो गई है ? 

ऑक्सीजन की कालाबाजारी को प्रशासन रोक नहीं पा रही है क्या ?