प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी परीक्षाओं से पहले एक बार फिर परीक्षा पर चर्चा करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी 7 अप्रैल को शाम 7 बजे एक वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए परीक्षा पर चर्चा करेंगे। इस कार्यक्रम में वह देश भर के छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों से बातचीत करेंगे।


उनका कहना है कि यह कार्यक्रम उनके दिल के बेहद करीब है, और इसके जरिए वह छात्रों को परिवार के सदस्य की तरह परीक्षा से पहले के दबाव से उबरने में मदद करना चाहते हैं। साथ ही यह इससे वह यह भी जान सकते हैं कि आज का युवा क्या चाहता है, और उसके दिमाग में क्या चल रहा है।


प्रधानमंत्री ने परीक्षा पर चर्चा की जानकारी अपने ट्विटर हैंडल पर एक ट्वीट के जरिए साझा की। हर साल परीक्षाओं से पहले प्रधानमंत्री एग्जाम देने वाले छात्रों से बातचीत करते है। इस साल भी परीक्षा की चर्चा में यह सब होगा लेकिन बिलकुल अलग अंदाज में, इस बार की यह चर्चा कोरोना के कारण ऑनलाइन ही आयोजित की गई है। प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना के कारण चर्चा को व्यक्तिगत रूप से नहीं किया जा सकता है, लेकिन इसे वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सफल बनाया जा सकता है।

परीक्षा पर चर्चा पर एक रचनात्मक लेखन प्रतियोगिता का भी आयोजन कराया गया था। जिसमें सभी ने बड़े उत्साह के साथ भाग लिया था।  इस प्रतियोगिता में 10.5 लाख छात्रों, 2.6 लाख शिक्षकों और लगभग 92 हजार अभिभावकों ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया था।इसमें 9 वीं और 10वीं कक्षा के छात्रों ने अधिक संख्या में हिस्सा लिया था जिसमें 9 वीं और 10वीं कक्षा के छात्रों की संख्या ज्यादा थी।