कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने पूरे बिहार को अपनी गिरफ्त में कर रखा है। बिहार में रोजाना 10,000 से अधिक मामले सामने आ रहे हैं। इस वायरस के वजह से कई सरकारी कर्मचारियों की मृत्यु हो चुकी है। इस हालात को देखते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सरकारी कर्मचारियों को लेकर एक बड़ा ऐलान किया है। शुक्रवार को हुई कैबिनेट बैठक में नीतीश सरकार ने यह फैसला लिया कि बिहार सरकार कोरोना संक्रमित सरकारी कर्मचारियों की मौत पर उनकी परिवार को विशेष पारिवारिक पेंशन देगा। 


इससे पहले बिहार में सिर्फ स्वास्थ्य कर्मचारियों को विशेष परिवारिक पेंशन मिलता था। लेकिन अब सरकार ने यह निर्णय लिया है कि सभी सरकारी कर्मचारी को यह लाभ मिलेगा। मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार को सचिवालय में बिहार सरकार की कैबिनेट की एक अहम बैठक हुई, बैठक नीतीश कुमार की अध्यक्षता में की गई थी। इस बैठक में 11 एजेंडों पर सरकार ने मुहर लगाई है। 


आपको बता दें कि शुक्रवार को बिहार सरकार के मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह मृत्यु हो गई। वह कोरोना वायरस से संक्रमित थे। कैबिनेट की बैठक में मुख्यमंत्री और अन्य मंत्रियों ने अरुण कुमार के निधन पर श्रद्धांजलि दी। 


मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ट्वीट करते हुए कहा कि" मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह जी की कोरोना से हुई मौत अत्यंत दुखद है। अरुण कुमार सिंह वर्ष 1985 बैच के कैडर के आईएएस अधिकारी थे। उनके निधन से प्रशासनिक क्षेत्र में अपूरणीय क्षति हुई है। उनका अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा।" 


बिहार में कोरोना ने अपना रौद्र रूप धारण कर लिया है। राज्य में पहली बार शुक्रवार को 15,853 कोरोना के मामले मिले, जो कि एक दिन में अभी तक कि सबसे बड़ी संख्या है। इसके साथ ही 80 लोगों ने इस वायरस कि वजह से अपना दम तोड दिया।