पुणे प्रशासन ने कोविड के प्रसार को देखते हुए नई पाबंदियों की घोषणा की है। रात को होगा कर्फ्यू और शादी विवाह जैसे कार्यक्रमों पर होगी रोक।

उपमुख्यमंत्री अजित पवार के अध्यक्षता में कोविड-19 की समीक्षा बैठक हुई जिसमें जिला स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने हिस्सा लिया कई सांसद और कई विधायकों ने भी हिस्सा लिया।

मीटिंग के बाद पुणे के डिविजनल कमिश्नर सौरभ राव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मीटिंग में लिए गए फैसलों के बारे में जानकारी दी। राव ने कहा "महाराष्ट्र में, सकारात्मकता दर बढ़ रही है। पुणे जिले में यह 10 प्रतिशत हो गया है। 15 दिन पहले, सकारात्मकता दर केवल 4.5 से 5 प्रतिशत थी। यह तेजी से बढ़ा है। इस तथ्य को ध्यान में रखते हुए कि पिछले वर्ष, हमने एक समान प्रवृत्ति देखी थी, जहां पहले कुछ महीनों में सकारात्मकता दर 2 से 4 प्रतिशत से बढ़कर 10 प्रतिशत हो गई थी और फिर अगले तीन महीनों में यह दर बहुत अधिक हो गई थी। इससे बचने के लिए हम कुछ एहतियाती उपाय कर रहे हैं।"

28 फरवरी तक स्कूल और कॉलेज बंद रहेंगे।

रात्रि 11:00 बजे तक सभी होटल और इस तरह बार भी बंद हो जाएंगे।

सोमवार 22 फरवरी से रात्रि 11:00 से सुबह के 6:00 बजे तक कर्फ्यू रहेगा ।

कोचिंग संस्थान बंद रहेंगे। केवल प्रशासनिक सेवा से संबंधित कोचिंग संस्थानों को 50% की क्षमता के साथ खोला जा सकता है।

पिंपरी छिंदवाड़ा और ग्रामीण क्षेत्रों में छोटे कंटेनमेंट जोन की पहचान की जाएगी ।

राजनीतिक एवं गैर राजनीतिक किसी भी प्रकार की एकजुटता पर रोक होगी| ।