कोरोना महामारी की दूसरी लहर से देश में हालात बद से बद्तर होते जा रही है। इसी वजह से हरिद्वार कुंभ मेला को संक्षिप्त करने को लेकर अटकलें भी काफी तेज हो गई हैं। 


इसी मौके पर कुंभ मेला के ऑफिसर दीपक रावत ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर के बीच कुंभ मेला को छोटा करने का कोई आदेश नहीं मिला है। हालांकि इससे पहले उत्तराखंड हाई कोर्ट के तरफ से राज्य सरकार को कुंभ मेला के दौरान प्रतिदिन 50,000 कोरोना टेस्ट का निर्देश दिया गया था। 

गृह मंत्रालय का नया गाइडलाइंस - 

राज्य सरकार ने 12 राज्यों से आने वाले लोगों के लिए कोरोना नेगेटिव टेस्ट रिपोर्ट अनिवार्य कर दिया गया है। इसके तहत सभी पर्यटकों और श्रद्धालुओं को अपने साथ RT-PCR नेगेटिव टेस्ट रिपोर्ट लाना होगा। इसके मुताबिक महाराष्ट्र, केरल, पंजाब, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, हरियाणा, गुजरात, उत्तर प्रदेश, दिल्ली और राजस्थान के लोगों के लिए कुंभ में प्रवेश करने से पहले RT-PCR का नेगेटिव टेस्ट रिपोर्ट दिखाना होगा। 


इसके साथ ही आरटी पीसीआर का नेगेटिव रिपोर्ट 72 घंटे तक का होना अनिवार्य है। अगर किसी व्यक्ति के पास 72 घंटे से अधिक पुरानी रिपोर्ट होगी तो उसे कुंभ मेले में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। 

आपको बता दें कि 27 अप्रैल को स्कूल का अंतिम शाही स्नान है और कयास ही लगाए जा रहे हैं कि इस शाही स्नान में काफी संख्या में श्रद्धालु आ सकते हैं जिसके लिए यह कड़े नियम बनाए गए हैं।