देश में बढ़ रहे कोरोना महामारी के आतंक के बीच केंद्र सरकार ने एक बड़ा फैसला सुनाया हैं। जिसके तहत सरकार अगले 2 महीने तक गरीबों को मुफ़्त अनाज देगी। इस पहल से तकरीबन 80 करोड़ भारतीयों को फायदा मिलने की उम्मीद है।

केंद्र सरकार ने बताया कि यह ऐलान प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत किया गया है जिसमें सरकार अगले 2 महीने यानी मई और जून में प्रति व्यक्ति 5 किलोग्राम मुफ़्त अनाज देगी। इस योजना को सफल बनाने के लिए 26,000 करोड़ से अधिक रुपए खर्च किए जाएंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि जब देश कोरोनावायरस जैसी भयावक महामारी की दूसरी लहर से जूझ रहा है उस वक्त गरीबों को पौष्टिक भोजन मिलना बहुत महत्वपूर्ण है। गौरतलब है कि सरकार ने पिछले साल लगे लॉकडाउन के समय भी इस तरह लोगों को प्रधानमंत्री कल्याण योजना के तहत अनाज बांटा था।

इस पर अमित शाह ने ट्वीट करते हुए कहा, 'कोरोना के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए ₹26,000 करोड़ से प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत 2 महीने तक 5 किलो अनाज देने के निर्णय पर @narendramodi जी का अभिनंदन करता हूं। इससे देश के करीब 80 करोड़ लोगों को लाभ मिलेगा। मोदी सरकार इस आपदा में हर कदम देशवासियों के साथ खड़ी है।'

आपको बता दें कि सरकार की तरफ से यह ऐलान ऐसे समय किया गया जब देश में कोरोना महामारी ने भयावह रूप ले लिया हैं। हालात बेकाबू नज़र आ रहे हैं और हर दिन के आंकड़े डरा देने वाले होते हैं। देश के अस्पतालों में बेड्स और ऑक्सीजन की भारी कमी चल रही हैं। कई राज्यों में तो दवाईयां भी बड़ी मुश्किल से मिल रही हैं। लोग अस्पतालों के बाहर तड़प-तड़प कर मर रहे हैं। वैसे तो सरकार की तरफ़ से ये अच्छी पहल है कि इस मुश्किल समय में गरीबों के पेट में अनाज होना चाहिए। लेकिन देश में हालात ऐसे हो गए हैं कि लोग कोरोनावायरस से नहीं बल्कि ऑक्सीजन और दवाइयों की कमी की वजह से अपना दम तोड़ रहे हैं। अगर जल्द ठोस कदम नहीं उठाए गए तो वह दिन दूर नहीं जब देश में जिंदा लोगों के मुकाबले लाशें ज्यादा हो जाएंगी।