मलयालम सिनेमा जगत के लोकप्रिय अभिनेता व लेखक पी बालाचंद्रन का 5 अप्रैल को निधन हो गया। उनकी उम्र 62 साल थी और वह लंबे समय से बीमार चल रहे थे। 

एक रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने सुबह के लगभग 5 बजे अपनी आखिरी सांस ली। उस वक्त वे अपने केरल के वायकोम स्थित निवास पर थे। कहा जा रहा है कि पी बालाचंद्रन का पिछले 8 महीने से मेनिन्जाइटिस का इलाज अमृता अस्पताल से चल रहा था और इसके चलते वह लंबे समय से बिस्तर पर ही थे।

बता दें कि पद्मनाभन बालाचंद्रन का जन्म 2 फरवरी 1952 में केरल के कोल्लम डिस्ट्रिक्ट के सास्थमकोत्ता गांव के निवासी पदमनभा पिल्लै और सरस्वती भाई के घर में हुआ था। उन्होंने मलयालम फिल्म इंडस्ट्री में लेखक और एक्टर दोनों के रूप में काम किया। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत रिचर्ड एटनबरो की 1982 की लैंडमार्क्स फिल्म गांधी से बतौर एक्स्ट्रा के रूप में किया था। वे त्रिवेंद्रम लॉज, थैंक यू, साइलेंस जैसी फिल्मों में भी काम कर चुके हैं। उनकी आखिरी फिल्म एक पॉलीटिकल थ्रिलर थी जिसका नाम मम्मूटी था और वह इस साल की शुरुआत में ही रिलीज हुई थी।