महाराष्ट्र के कई शहरों मैं आने जाने पर रोक लगने के साथ राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने आगाह किया कि कोरोना वास्तव में खतरनाक स्थिति में पहुंच रहा है। टोपे ने कहा मुख्यमंत्री, जिलाधिकारियों और पुलिस आयुक्तों से वार्ता के बाद कड़े फैसले लिए जा सकते हैं।

जरूरत के अनुसार कई जिलों में लॉकडाउन लगाने का भी इशारा किया। लाडो लगाने का अधिकार जिला अधिकारियों के हाथों में दिया जा सकता है। लोगों से करो ना गाइडलाइंस का पालन करने का भी अनुरोध किया और साथ ही यह चेतावनी भी दी की जुर्माना बढ़ाया जा सकता है।

पिछले 1 वर्ष में कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाले महाराष्ट्र में पिछले कुछ हफ्तों में संक्रमण बहुत तेजी से बढ़ा है। महाराष्ट्र में 11,141 नए मामले सामने आए हैं और 38 मौतें हुई हैं।

राजेश टोपे ने जनता की लापरवाही के साथ-साथ सरकार की ढील को कोविड के प्रसार का कारण माना। टोपे ने कहा कि लोगों ने कोरोना को हल्के में ले लिया है। किसी के मन में कोई गंभीरता नहीं है। नियमों के पालन को लेकर सरकारी मशीनरी भी थोड़ी सुस्त थी। महाराष्ट्र के कई इलाकों में नाइट कर्फ्यू लागू किया गया है और स्कूल कॉलेज बंद कर दिए गए हैं।