देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामले बेकाबू होते जा रहे हैं। सूबे में लगे लॉकडाउन से भी कोई सुधार नहीं हो पाया है। जिसके चलते राज्य सरकार ने इस लॉकडाउन को 1 हफ्ते के लिए और बढ़ाने का फैसला सुनाया है। जिसके बाद दिल्ली में अब 3 मई तक तालाबंदी रहेगी।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना संकट से निपटने के लिए लॉकडाउन आखरी हथियार है। जिस तरह संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं आखिरी हथियार इस्तेमाल करना जरूरी था। राज्य में कोरोनावायरस का कहर अभी तक जारी है इसलिए हमने लॉकडाउन को आगे बढ़ाने का फैसला लिया है। अब 3 मई सुबह 5 बजे तक राजधानी में लॉकडाउन रहेगा।

दिल्ली सरकार ने इससे पहले 6 दिन के लगे लॉकडाउन के फैसले के समय कहा था कि इससे संक्रमण के मामले घटेंगे और स्वास्थ्य संसाधनों को तैयार करने का मौका भी मिलेगा। लेकिन 6 दिन के लगे इस लॉकडाउन के बाद भी दिल्ली में संक्रमण के मामले कम होते नज़र नहीं आ रहे थे। पॉजिटिविटी दर 32% से ऊपर जा चुका है, ऑक्सीजन और बेड्स की कमी भी लगातार बनी हुई है। जिसके चलते दिल्ली सरकार को फिलहाल लॉकडाउन बढ़ाने के अलावा और कोई रास्ता नहीं दिख रहा था।  जिसके बाद सरकार ने इसे 6 दिन और आगे बढ़ाने का फैसला किया है।

बता दे कि पिछले 24 घंटों में राजधानी में संक्रमण के 24,103 नए मामले सामने आए हैं। लेकिन चिंता की बात यह है कि पिछले 24 घंटों में मौत के आंकड़े 357 रिकॉर्ड किए गए हैं। यह अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है।