फेसबुक के 533 मिलियन उपयोगकर्ताओं के डेटा लीक मामले को एक हफ्ते भी नहीं हुआ था कि एक अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का डेटा लीक हो गया। माइक्रोसॉफ्ट अधिकृत पेशेवर नेटवर्किंग प्लेटफ़ॉर्म लिंक्डइन के कुल 500 मिलियन उपयोगकर्ताओं का डेटा लीक हो गया है, जिसे अब ऑनलाइन बेचा जा रहा है। 

इस डेटा लीक में उपयोगकर्ताओं का नाम, ईमेल आईडी, पता, फोन नंबर, कार्यस्थल की जानकारी और अन्य जानकारियां शामिल हैं। इस रिपोर्ट का खुलासा साइबरन्यूज ने किया है । रिपोर्ट में बताया गया है कि हैकर समूह उपयोगकर्ताओं के इस डेटा को 2 मिलियन की कीमत पर बेच रहा है, जहां इसकी कीमत आने वाले समय में और बढ़ सकती है। यह संभव है कि ये समूह बिटकॉइन के रूप में उपयोगकर्ताओं की जानकारी बेच रहे हैं।

डेटा लीक मामले की जानकारी आने के बाद लिंक्डइन ने अपनी सफाई पेश करते हुए इससे इनकार किया है। अपने बयान में कंपनी ने  कहा कि उन्होंने इसकी जांच की जहां उन्होंने पाया कि जो डेटा बिक्री के लिए उपलब्ध कराया गया है वह दूसरी वेबसाइटों और कंपनियों से लिया गया है।  उनके प्लेटफॉर्म का इससे कोई लिंक नहीं है। कंपनी ने आगे कहा, "हमने जो समीक्षा की उसमें पाया गया कि इसमें निश्चिततौर पर सार्वजनिक रूप से लिंक्डइन सदस्यों का प्रोफ़ाइल डेटा है, जो लिंक्डइन से लिया गया है, लेकिन यह डेटा ब्रीच नहीं है। कंपनी ने कहा कि सदस्यों का निजी डेटा हमारे प्लेटफॉर्म से नहीं लिया गया है।

कंपनी ने आगे कहा कि, जब भी कोई सदस्य डेटा लेने की कोशिश करता है, तो हम उसे अनुमति नहीं देते हैं और उसे तुरंत रोक देते हैं। लेकिन रिपोर्ट में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि उपयोगकर्ताओं का डेटा लिंक्डइन से ही लिया गया है।

बता दें कि कुछ दिनों पहले फेसबुक के 53.3 करोड़ यूजर्स का डेटा लीक हुआ था, जिसमें 61 लाख डेटा भारतीय यूजर्स का भी था। इस लीक हुए डेटा में यूजर्स की हर जानकारी शामिल थी।   फेसबुक ने इस मामले में कहा था कि यह 2019 में हुआ , जिसे कंपनी ने उसी साल ठीक कर दिया था।