कनाडा के राष्ट्रपति जस्टिन ट्रूडो ने दिल्ली बॉर्डर के पास प्रदर्शन कर रहे किसानों का दोबारा समर्थन किया है | पत्रकारों द्वारा पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि विश्वभर में किसी भी जगह हो रहे शांतिपूर्ण प्रदर्शन के साथ  वह खड़े हैं | किसानों के इस आंदोलन को ट्रूडो ने उनका लोकतांत्रिक अधिकार बताया है| ट्रूडो का यह बयान इस नज़र से भी महत्वपूर्ण है कि एक दिन पहले ही ट्रूडो के पिछले बयान पर अपनी असहमति जताते हुए नई दिल्ली ने कनाडा उच्चायुक्त से शिकायत की है | 

गौरतलब है कि दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन पर जस्टिन ट्रूडो ने इससे पहले भी किसानों के समर्थन में अपना बयान जारी किया था| ओटावा में जब पत्रकारों ने इस आंदोलन से कनाडा  के रिश्तों पर प्रभाव पड़ने बारे में पूछा तो ट्रूडो ने किसानों को समर्थन दिया| उन्होंने कहा कि कहीं भी हो रहे शांतिपूर्ण प्रदर्शन  के साथ वह खड़े हैं| इसके अलावा सरकार द्वारा निकाले जा रहे समाधान को लेकर वह आशान्वित भी हैं | 

बताते चलें कि कनाडा में पंजाब और हरियाणा की एक बड़ी आबादी रहती है, ऐसे में ट्रूडो का यह बयान महत्वपूर्ण हो जाता है इसके अलावा यह बयान भारत द्वारा नाराज़गी जाहिर करने के  अगले ही दिन आया है इसलिए भारत कनाडा संबंधों पर भी इसका प्रभाव पड़ सकता है |