दिल्ली में कोरोना संक्रमण की बेक़ाबू होती रफ़्तार को देखकर लगातार आईपीएल को रोकने की मांग की जा रही है और कई याचिकाएं दाखिल की गई हैं। ऐसे में हाइकोर्ट ने इन दाखिल याचिकाओं को जनहित याचिका में बदल दिया है।

बता दें कि इस मामले की सुध लेते हुए जस्टिस प्रतिभा ने कहा कि यह मामला लोगों के हितों यानी जनहित से जुड़ा हुआ है और इसकी आगे की सुनवाई के लिए सम्बंधित वरिष्ठ पीठ अधिकारियों के पास यह मुद्दा भेजा जा चुका है। 

आईपीएल( IPL) को रोकने के साथ-साथ फिरोजशाह कोटला स्टेडियम को कोविड केयर सेंटर में तब्दील करने की भी मांग की गई है ताकि इस महामारी से लड़ा जा सके।

बताना चाहेंगे कि जाने माने वकील करुण ठुकराल ने भी दायर याचिका में कहा कि इस महामारी में आईपीएल मैच करवाना उचित नहीं है। उनका कहना है कि इस महामारी में दिल्ली, मुंबई व पूरा देश परेशानियों से गुज़र रहा है। लोगों के पास बेड, ऑक्सिजन नहीं है, दवाओं की कमी है, सांसों का संकट है और ऐसे में आईपीएल मैच करवाना अनुचित है।