हरिद्वार: कुंभ नगरी में 14 अप्रैल को हुए मुख्य शाही स्नान के बाद कोरोनावायरस ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। अखाड़ों की छावनी मे  संक्रमित संत-सन्यासियों की लिस्ट सामने आने लगी है। जिसके अनुसार फिलहाल 50 से अधिक साधु-संत संक्रमित पाए गए हैं।

जूना, निरंजनी और आह्वान अखाड़े में 24 घंटे के भीतर 9 संतों के कोरोना संक्रमित होने की ख़बर आई हैं। वहीं सन्यासी अखाड़ों और वैरागी शिविरों में 50 संत कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। ख़बर यह भी है कि महामंडलेश्वर कपिल देव का कोरोना की चपेट में आने से निधन हो चुका है। 

हरिद्वार के सीएमओ डॉ एस के झा ने बताया शाही स्नान के बाद रेंडम सेंपलिंग तेज़ी से की जा रही है, टीम और रफ्तार दोनों ही बढ़ा दी गई है। लेकिन कोरोना प्रोटोकॉल का पालन क्यों नहीं कराया जा रहा है इसका किसी के पास कोई जवाब नहीं है। वही कुंभ मेले के आईजी कहते हैं कि अगर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करा गया तो भगदड़ मच सकती है।

स्थिति को देखते हुए पंचायती श्री निरंजनी अखाड़ा और तपो निधि श्रीआनंद अखाड़ा ने कुंभ मेले में अपनी छावनी को 17 अप्रैल से बंद करने का निर्णय लिया है।

बता दें कि पिछले 24 घंटे में हरिद्वार जिले से 629 कोरोना संक्रमित मामले सामने आए हैं। जिसमें 153 श्रद्धालु भी शामिल हैं।