अमृतसर के रंजीत एवेन्यू में घर के सामने कूड़े के ढेर में बम जैसी वस्तु मिलने पर सनसनी फैल गई। इसे ग्रेनेड बताया जा रहा है. रंजीत एवेन्यू अमृतसर के सबसे पॉश इलाकों में से एक है। सूचना मिलने पर पुलिस आयुक्त डॉ सुखचैन सिंह गिल और डीसीपी मुखविंदर सिंह भुल्लर मौके पर पहुंचे और जांच शुरू की. इसके अलावा सूचना मिलते ही बम निरोधक दस्ता भी मौके पर पहुंच गया है।

इससे पहले शनिवार और रविवार की दरम्यानी रात पंजाब पुलिस और सीमा सुरक्षा बल ने अमृतसर में भारत-पाकिस्तान सीमा पर दलके गांव के पास एक संयुक्त तलाशी अभियान में तीन किलो आरडीएक्स, पांच हथगोले और 100 से अधिक कारतूस बरामद किए थे.

इसके अलावा सुरक्षाबलों ने टिफिन बम और तीन डेटोनेटर भी बरामद किए हैं। इन हथियारों को पाकिस्तानी ड्रोन ने दलेक के आसपास गिराया था। ड्रोन और हथियार गिराए जाने की आवाज सुनकर ग्रामीणों ने तुरंत पंजाब पुलिस और बीएसएफ अधिकारियों को सूचित किया। इसके बाद सुरक्षाबलों ने इलाके में संयुक्त तलाश अभियान चलाया और हथियारों की एक खेप बरामद कर देश में आतंकी हमले की साजिश को नाकाम कर दिया.

जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ने शनिवार और रविवार की दरम्यानी रात लोपोके थाना क्षेत्र के दलके गांव के पास ड्रोन के जरिए हथियारों से भरा बैग गिराया था. अपने गांव के आसपास ड्रोन की आवाज सुनकर ग्रामीण सतर्क हो गए और गांव के सरपंच ने तुरंत पंजाब पुलिस और बीएसएफ अधिकारियों को फोन पर सूचित किया।

केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब भर में चल रहे किसान आंदोलन के बीच किसी ने खालसा कॉलेज के पास खालिस्तान के समर्थन में नारे लिखे। गुरुवार सुबह खालसा कॉलेज के पास एक दुकान का शटर व निगम द्वारा किए जा रहे विकास कार्यों के लिए सीमेंट की बड़ी-बड़ी पाइपों पर रखे ये नारे देखिए।

खालसा कॉलेज के पास स्थित एक दुकान के लोहे के शटर पर लाल रंग से लिखा था कि किसान हाल खालिस्तान। इसके अलावा निगम के परियोजना कार्य के तहत वहां रखे सीमेंट के दो बड़े पाइपों पर लाल रंग से वही शब्द लिखे हुए थे। इससे इलाके में दहशत का माहौल है।