देश में कोरोना से हाहाकार मचा हुआ है, पूरे भारत में कोरोना का संक्रमण बड़ी तेजी से बढ़ रहा है। कोरोना से संक्रिमत होने वाले मरीजों का आंकड़ा बड़ी तेजी से बढ़ रहा है। इसी से पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी करुणा शुक्ला का सोमवार देर रात निधन हो गया। वह कोरोना के संक्रमण की चपेट में थीं और रायपुर के रामकृष्ण अस्पताल में भर्ती थीं। यहीं देर रात उनका निधन हो गया।


गौरतलब है कि करुणा पहली बार 1993 में वह बीजेपी के टिकट से विधायक बनी थी। वर्ष 2013 में टिकट ना मिलने से नाराज़ होकर उन्होंने कांग्रेस का दामन थाम लिया था। कांग्रेस चिकित्सा प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. राकेश ने कहा है कि उनका अंतिम संस्कार मंगलवार को बलौदा बाजार में किया जाएगा। करुणा समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष थीं। इससे पहले पहले वह लोकसभा सांसद भी रह चुकी थीं। पूर्व में वह भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सहित तमाम बड़े पदों पर अपनी सेवा दे चुकी थीं।