आईपीएल के 33 वे मैच मे मुंबई इंडियंस बनाम चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai super kings) का मुकाबला हुआ और इस मैच मे वो कारनामा हुआ जिसे देखने के लिए फैन्स कब से तरस रहे थे। पहले टॉस जीतते हुए चेन्नई ने बॉलिंग ली और चेन्नई के बोलर्स ने निराश नहीं किया। उन्होंने बखूबी उस जिम्मेदारी को निभाया और बेहद खूबसूरती से मुंबई को बैकफुट पर धकेल दिया।

मुंबई अपनी पारी में मात्र 155 रन ही बना सकीं। रोहित शर्मा की खराब फॉर्म इस मैच मे भी बरकरार रही पहले ओवर मे ही दोनों ओपनर शून्य पर आउट हो गए थे और फिर से सारी नजरे सूर्य कुमार यादव पर जा टिकी लेकिन वो भी मुंबई की डूबती नैया मे मात्र 32(21) रन का ही योगदान दे सके। तिलक वर्मा ने मुंबई को सम्मानजनक स्कोर तक पहुचाने मे अहम भूमिका निभायी। उन्होंने 51(43) रन की नाबाद पारी खेली और आईपीएल मे अपने नाम का दम दिखाया। यह भी पढ़ें- नायाब मैच मे दिल्ली कैपिटलस् ने पंजाब किंग्स को हराया

चेन्नई ने पारी की शुरुआत करते हुए कुछ खास कमाल नहीं दिखा पायी। मैच की पहली बाॅल पर ही ऋतुराज डेनियल का शिकार हुए और चेन्नई की पारी लड़खड़ाने लगी लेकिन अंबाती रायडू 40(35) के स्थिर पारी ने चेन्नई की पारी को आगे बढ़ाया। (Latest Cricket News) लेकिन आखिरी ओवर मे चेन्नई को एक ओवर मे 17 रन बचाने थे और स्ट्राइक पर चेन्नई के थला बैटिंग कर रहे थे और उन्होंने उम्मीद बनाए रखी। मैच की आखिरी बाॅल पर चेन्नई को जीतने के लिए 4 रन चाहिए थे और धोनी ने अपने फिनिशर होने की बात पर मोहर लगा दी और आखिरी बाॅल पर उनादकट को चौका लगाते हुए चेन्नई को मैच जिताया।

चैन्नई के हीरो और मैच विनर मुकेश चौधरी को मैन ऑफ दी मैच चुना गया जिन्होंने 3 ओवर मे 19 रन देकर 3 विकेट लिए। इसी के साथ चेन्नई ने आखिरी बाॅल पर सबसे ज्यादा मैच जीतने का रिकॉर्ड कायम किए हुआ है। (IPL Match) चेन्नई ने 8 बार ये कारनामा किया हुआ है इसी के साथ मुंबई आईपीएल की पहली टीम है जिसने लगातर 7 मैच हारे है इससे पहले दिल्ली पर बैंगलोर 6 मैच हारने वाली टीम थी। मजेदार खबरे जानने के लिए हमारी वेबसाइड "Thebharatpress.com" से जुड़े रहे।

यह भी पढ़ें

Shane Warne Dies क्रिकेट के खिलाड़ी का हुआ अकस्मात निधन

नीतू कपूर ने बताया आलिया और रणवीर की शादी डेट