दिल्ली पुलिस अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर उन सभी महिला पुलिसकर्मियों को सम्मान देने जा रही है, जिन्होंने कोरोना महामारी में लॉकडाउन के वक्त PCR वैन में अपनी ड्यूटी के दौरान गर्भवती महिलाओं की सहायता की थी और उन्हें सही समय पर अस्पताल पहुंचाया था।

दिल्ली पुलिस PCR की डी. सी. पी., ईशा पांडे ने मीडीया को दिया साक्षात्कार में बताया कि लॉकडाउन के समय उन्हें 997 के करीब गर्भवती महिलाओं की डिलिवरी संबंधित कॉल आयी थी,  जिसमें लगभग 9 बच्चों की डिलीवरी पुलिस की PCR वैन की मदद से करवाई गई, आगे वो बताती हैं कि इसीलिए 8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर अपने महिला PCR स्टाफ़ को हम सम्मानित करने जा रहे हैं ताकि उनका हौसला बना रहे और वो किसी भी विषम परिस्थितियों का यूँ ही डटकर सामना करने को तैयार रहे। 

जाहिर है कि लॉकडाउन के दौरान जिन हालातों में पुलिस की गाड़ी एम्बुलेंस बनकर जरूरतमंदों की मदद के लिए पहुंची, वो पल उस परिवार के लिए किसी चमत्कार से कम नहीं, आज भी लोग लॉकडाउन के समय पैदा हुए हालातों को याद कर सहम जाते हैं ऐसे वक्त में पुलिसकर्मियों द्बारा किया गया काम वाकई काबिलेतारीफ है और सम्मान का अधिकार रखता है।