दिल्ली में लगातार सांसों का संकट गहराया हुआ है, ऐसे में मुनाफाखोरी व कालाबाज़ारी से दिल्लीवासी पूरी तरह परेशान हो चुके हैं। ऐसे में सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। सरकार अब घर पर ही इमरजेंसी ऑक्सीजन देने के लिए स्पेशल पूल की व्यवस्था की गई है। 

बता दें, इसकी निगरानी रखने की ज़िम्मेदारी जिला के वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई है। जिसके तहत ज़िलाधिकारी ही मरीज़ की स्थिति व गंभीरता को देखते हुए यह तय करेंगे कि ऑक्सिजन देना है या नहीं। स्वास्थ्य विभाग ने यह अधिकार  केवल ज़िलाधिकारी को ही दिए हैं। सरकार ने प्रत्येक जिला प्रशासन के अधिकारियों को स्वास्थ्य विभाग ने 20-20 सिलेंडर दिए हैं। 

राजधानी दिल्ली में एक बड़ा वर्ग यानी करीब 50 हज़ार मरीज़  होम आइसोलेशन में हैं, औऱ ऐसे में अगर उन्हें ऑक्सीजन की ज़रूरत होती है तो वह अस्पतालों में भर्ती हो जाते हैं। जिससे अस्पतालों में बेड की संख्या कम हो जाती है। इसलिए जिन मरीज़ों को केवल ऑक्सिजन की ज़रूरत है उन्हें वह घर पर उपलब्ध हो जायेगी।  जिससे ज़्यादा गंभीर मरीज़ों को अस्पतालों में बेड मिल सकेगा। 

होम आइसोलेशन में रह रहे मरीज़ों को ऑक्सिजन सिलेंडर लेने के लिए पहले अपना पंजीकरण दिल्ली सरकार के पोर्टल www.delhi.gov.in  पर करना होगा।

जिसके लिए आवश्यक जानकारियों में मरीज़ का

● आधार कार्ड

●कोविड जांच रिपोर्ट

● सीटी स्कैन रिपोर्ट**

● फ़ोटो

● पहचान पत्र

सभी जानकारी उपलब्ध कराना होगा, इसके बाद जिला अधिकारी उन्हें ऑक्सिजन सिलेंडर उपलब्ध कराएंगे। 

दिल्ली सरकार की अपील दान करें सिलेंडर

सरकार ने दिल्लीवासियों से खाली पड़े ऑक्सिजन सिलेंडर दान करने की अपील की है। दान करने के लिए राजघाट बस डिपो के पास केंद्र बनाए गए हैं। अधिक जानकारी के लिए 011 23270718 पर सम्पर्क कर सकते हैं। 

सरकार घर पर मरीज़ों को ऑक्सिजन उपलब्ध करवा रही है जिससे अस्पतालों में भीड़ कम हो सके।