सितंबर माह में, देहरादून पुलिस ने एक `रेप' के मामले में एफ.आई.आर दर्ज की थी | जिसमें एक औरत ने एम.ले.ऐ महेश सिंह नेगी के खिलाफ रेप का मुकदमा दर्ज किया | 

इसी केस के सिलसिले में देहरादून के चीफ जुडिशियल मजिस्ट्रेट ने डी.एन.ऐ टेस्ट का फैसला सुनाया | औरत ने एम.ल.ऐ पर रेप करने का आरोप लगाया और डी.एन.ऐ टेस्ट की मांग रखी जिस्से उनके रिश्ते से हुए बच्चे के पिता का सबको पता लग सके | 

इस केस में एफ.आई.आर दर्ज हुई | ३७६ और ५०६ ( आपराधिक धमकी) आई.पी.सी. के अंतर्गत एफ.आई.आर. की गई | ये तब हुआ जब कोर्ट ने दर्जा कर्ता की शिकायत सुनी | औरत के वकील सिंह ने दून अस्पताल से जांच के लिए लोग मंगाए, ताकि कोर्ट में आकर एम.ल.ऐ. के सेम्पलस लिए जाए | एम.ल.ऐ. ने इस सबको टालने की कोशिश की |