रविवार का दिन आईपीएल फैंस के लिए फुल पैसा वसूल रहा। इस आईपीएल की दो सबसे बड़ी टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच हुए मुकाबले में चेन्नई ने बैंगलोर को 69 रनों से हराकर बैंगलोर की विजय रथ को रोक दिया।


एक जडेजा सब पर भारी - 

टॉस जीतकर धोनी ने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। चेन्नई के ओपनर का शानदार फार्म इस मैच में भी जारी रहा। फाफ(50 रन) और ऋतुराज(33 रन) ने मिलकर पहले विकेट के लिए 74 रन जोड़े। इसके बाद रैना(24 रन) और रायडू(14 रन) ने भी छोटी सी पारी खेली। 

इसके बाद आया Sir रवींद्र जडेजा नाम का सुनामी। जडेजा ने 28 गेंदों में 222 की स्ट्राइक रेट से 62 रन बनाए। चेन्नई के पारी की आखिरी ओवर, बॉलर थे हर्षल पटेल, जडेजा ने उस ओवर में 37 रन जोड़े। जिस वजह से चेन्नई 20 ओवरों में 191 रन बना सकी। 


हर्षल पटेल को आखिरी ओवर में 37 रन पड़े। यह इस आईपीएल का सबसे महंगा ओवर रहा। 


जडेजा और ताहिर के आगे नाचे बैंगलोर के बल्लेबाज - 

लक्ष्य कि ओर नीसान साधते हुए बैंगलोर ने तेज शुरुआत की। बैंगलोर का स्कोर तीन ओवरों में 44 रन तक पहुंच चुका था। पडिक्कल का शानदार प्रदर्शन यहां भी जारी रहा लेकिन विराट(8 रन) का बल्ला अभी भी रनों के खोज में था। लेकिन विराट और पडिक्कल(34 रन) के आउट होते ही मानो विकेटों की झड़ी लग गई। चाहे मैक्सवेल(22 रन) हो या डी विलियर्स (4 रन) कोई भी बल्लेबाज जडेजा और ताहिर के स्पिन के सामने टिक नहीं पाया। बैंगलोर की बल्लेबाजी की हालत इसी बात से पता चलती है कि उनके तरफ से सबसे ज्यादा गेंद 10 और 11 नंबर के बल्लेबाज युजवेंद्र चहल और मो सिराज ने खेली। 


चेन्नई के तरफ से गेंदबाजों ने उम्दा प्रदर्शन किया। जडेजा और ताहिर में मिलकर 8 ओवर डाले और 29 रन देकर 5 खिलाड़ियों को आउट किया। 


जडेजा का जादू - 

पहले बल्ले से एक ओवर में 37 रन बनाया फिर गेंद से चार ओवर में एक ओवर मेडन डाल कर 3 खिलाड़ियों को अपना शिकार बनाया। गलती से एक खिलाड़ी का कैच छूटा तो उसे रन आउट से अपना शिकार बनाया। मानो ऐसा लग रहा था कि कोई ऐसा काम नहीं है जो sir रवींद्र जडेजा नहीं कर सकते। 

इस शानदार प्रदर्शन के लिए उनको प्लेयर ऑफ द मैच का अवार्ड भी मिला।