कोरोना की बेक़ाबू रफ्तार को देखते हुए, बेडों के साथ अस्पतालों को भी कोविड मरीज़ों के लिए किया गया आरक्षित।

कोरोना की बेक़ाबू रफ्तार को देखते हुए, बेडों को कोविड मरीज़ों के लिए आरक्षित कर दिए गए हैं। साथ ही बेडों की संख्या 60 फ़ीसदी बढ़ाने के आदेश भी दिए गए हैं। राजधानी में कोरोना वायरस के संक्रमण से बिगड़ रहे हालात को देखते हुए दिल्ली सरकार ने 115 निजी अस्पताल को केवल कोविड मरीज़ों के लिए आरक्षित कर दिया है। साथ ही 14 बड़े अस्पतालों को सरकार ने पूरी तरह कोविड निजी अस्पताल घोषित कर दिया है। जानिए कौन - कौन से अस्पतालों में ये व्यवस्था की गई है। 

 1) इंद्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल

2) होली फैमिली अस्पताल

3) सर गंगा राम अस्पताल

4) वेंकेटेश्वर अस्पताल

5) जयपुर गोल्डन अस्पताल

6) माता चानन देवी अस्पताल

7) पुष्पावती सिंघानिया अस्पताल

8) सरोज सुपर अस्पताल

9) महाराजन अग्रसेन अस्पताल

10) मनिपाल अस्पताल

11 & 12) मैक्स सुपर व स्मार्ट सुपर अस्पताल

13) फोर्टिस अस्पताल

14) बालाजी अस्पताल।

इन सभी अस्पतालों को कोविड मरीज़ों के इलाज के लिए घोषित कर दिया गया है। मिली जानकारी के मुताबिक इन अस्पतालों में केवल औऱ केवल कोविड के मरीज़ों का ही इलाज किया जाएगा। किसी और बीमारी के इलाज के लिए आपको दूसरे अस्पताल में जाकर स्वयं का इलाज कराना होगा।