कोरोना जानलेवा होता जा रहा है। इसके संक्रमण से लोग अपनी जान गंवा रहे हैं। डॉ कोहली को कोरोना वायरस के कारण कुछ समय के लिए दिल्ली के सेंट स्टीफन अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

81 वर्षीय डॉक्टर नरेंद्र कोहली की हालत शनिवार शाम को बिगड़ने लगी और 6.40 मे उनकी मृत्यु हो गई। नरेंद्र कोहली की मृत्यु के बाद से, साहित्य प्रेमी सोशल मीडिया पर अपना दुख व्यक्त कर रहे हैं। इस तरह दुनिया छोड़ने के बाद से साहित्यिक उत्साही लोगों में शोक की लहर है।

नरेंद्र कोहली की मृत्यु पर, गीतकार, कवि और लेखक प्रसून जोशी ने ट्वीट किया कि "श्री नरेंद्र कोहली जैसे सम्मानित पिता की मृत्यु की खबर बहुत दुखद है, वह न केवल एक उत्कृष्ट लेखक थे, बल्कि एक अनुकरणीय व्यक्तित्व भी थे, मैं सौभाग्यशाली था उनके साथ कुछ समय बिताने का मौका मिला मुझे, यह CBFC बोर्ड के लिए भी एक अपूरणीय क्षति है। उनकी आत्मा को शांति मिले"

इसके अलावा, कुमार विश्वास ने डॉ नरेंद्र कोहली की मृत्यु पर दुख व्यक्त किया और कहा कि "पद्मभूषण श्री नरेंद्र कोहली, एक वरिष्ठ साहित्यकार जो अपार स्नेह करते थे सबको , जिन्होंने रामकथा, अभ्युदय जैसे धर्मग्रंथ से लोगों के मन में एक जगह सुनिश्चित की है। वे अभि हमारे बीच नही है। आशा करते हे उनके आत्मा को शांति मिले"