कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर ने भयानक रूप ले लिया है, देश में पिछले एक सप्ताह से प्रतिदिन संक्रमण के एक लाख से अधिक मामले सामने आ रहे हैं। 

वीरा साथीदार को फिल्म 'कोर्ट' में नारायण कांबले की महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए जाना जाता था। कोविद -19 संबंधित समस्याओं के कारण उन्हें नागपुर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

अभिनेता  वीरा साथीदार के बेटे राहुल ने कहा कि उनके पिताजी को पिछले हफ्ते नागपुर में एम्स अस्पताल में कोरोना संक्रमण के कारण भर्ती कराया गया था।

13 अप्रैल मंगलवार सुबह करीब 4 बजे उनकी तबीयत अचानक ज्यादा खराब हो गई और उनकी मौत हो गई। उनके मृत्यु से फिल्म इंडस्ट्री को बड़ा झटका लगा है। आपको बता दें कि सथीदार का असली नाम विपुल वैरागडे था, कहा जाता है कि उनका बचपन, गाँव की गायों की देखभाल में बीता था। उन्होंने कई कविताएँ भी लिखी हैं।

इसके बाद  वीरा साथीदार विशेष रूप से दलित पैंथर्स और अंबेडकरवादी आंदोलन के एक कार्यकर्ता बन गए। वह कुछ ओर मराठी फिल्मों में भी दिखाई दिए लेकिन फिल्म 'कोर्ट' में उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए 2016 के राष्ट्रीय पुरस्कार से उन्हें सम्मानित किया गया।  वीरा साथीदार की फिल्म "कोर्ट" को भारत मेऑस्कर के लिए भी भेजा गया था।

उनके लंबे समय के सहकर्मी मुकुंद आदिवर ने कहा कि वे इन दिनों 'चाँद चंद तुम' नामक एक वृत्तचित्र पर काम कर रहे थे। संगीत निर्देशक संभाजी भगत, जिन्होंने  वीरा साथीदार के साथ मिलकर काम किया, उनके निधन की पुष्टि की। संभाजी ने कहा, 'वीरा को कुछ दिन पहले नागपुर के एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था और पिछले दो दिनों से वेंटिलेटर पर थे। उनके निधन से मुझे गहरा दुख हुआ है, हम उन्हें न केवल एक प्रतिभाशाली अभिनेता के रूप में बल्कि एक अच्छे व्यक्ति के रूप में भी याद करेंगे। '