कोरोना महामारी की दूसरी लहर बेहद घातक होते जा रही है। संक्रमण फैलने की रफ्तार बेकाबू होते जा रही है। इसी बीच बिहार के पटना AIIMS में कोरोना बम फुट गया है। पटना AIIMS के मेडिकल सुपरिटेंडेंट ने आज जानकारी देते हुए कहा कि अस्पताल के अब तक 384 डॉक्टर और नर्स पॉजिटिव हो चुके हैं। 


कोरोना के बढ़ते हुए मामले को देखकर बिहार में पंचायत चुनाव को भी टाल दिया गया है। पंचायत चुनाव को लेकर अप्रैल के अंत में अधिसूचना जारी होनी थी लेकिन अब इसे 15 दिनों के लिए टाल दिया गया है। महामारी को देखते हुए राज्य निर्वाचन चुनाव आयोग ने पंचायत चुनाव टाल दिया है। चुनाव आयोग 15 दिनों के बाद फिर स्थिति की समीक्षा करेगी और फिर निर्णय लिया जाएगा।


राज्य में रिकॉर्डतोड़ नए कोरोना मामला - 

बिहार के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, राज्य में मंगलवार को रिकॉर्ड 10,455 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान 51 मरीज भी अपनी जान गंवा बैठे हैं। इस से अंदाजा यही लगता है कि ऑन पेपर हर घंटे 2 मरीजों की जान जा रही है। लेकिन पटना के श्मशान घाटों में शवों कि लंबी कतारों को देखते हुए सरकारी आंकड़ों की सच्चाई पर सवाल उठाए जा रहे हैं। वहीं अगर एक्टिव मरीजों की संख्या की बात करे तो राज्य में इस वक्त कुल 56,354 एक्टिव मरीज हैं।