केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने 11 राज्यों के लगभग 100 से ज्यादा जगहों पर बैंक धोखाधड़ी को लेकर छापेमारी की। यह 30 से ज्यादा धोखाधड़ी के मामलों से जुड़ा हुआ है, जिसमें करीब 3700 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी की गई है।

सीबीआई को लगातार विभिन्न बैंकों में फर्मों द्वारा धोखाधड़ी,फर्जी दस्तावेजों और फंड के दुरुपयोग की शिकायत आ रही थी। इन्हीं शिकायतों को ध्यान में रखते हुए सीबीआई ने धोखाधड़ी करने वालों के लिए यह अभियान चलाया। इस छापेमारी के दौरान सीबीआई ने काफ़ी अधिक संख्या में दस्तावेज जब्त किए। शिकायतकर्ता बैंकों में पंजाब नेशनल बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, यूनियन बैंक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, आदि बैंक शामिल हैं। छापेमारी की यह कार्यवाही दिल्ली, गुरुग्राम, नोएडा, कानपुर, मुंबई, भोपाल जैसी जगहों पर की गई। 

बैंक धोखाधड़ी के इस मामले में सीबीआई प्रवक्ता आरसी जोशी  ने जानकारी दी कि सारी जांच बैंकों द्वारा की शिकायतों के आधार पर हो रही है। ये बैंक धोखाधड़ी के खिलाफ एक विशेष अभियान चलाया गया है। सीबीआई द्वारा यह भी जानकारी दी गई की बैंक धोखाधड़ी करने वाली कंपनियां कर्ज नहीं चुका रही है, जिससे ये कर्ज एनपीए में जा रहा है, जिससे सरकारी बैंकों को भारी नुकसान झेलना पड़ रहा हैं। फिलहाल सीबीआई द्वारा जब्त किए दस्तावेजों और आगे की कार्यवाही को लेकर अभी कोई ब्योरा नहीं दिया गया है।