कोरोना महामारी के कारण कई बोर्ड परिक्षाएं या तो टाल दी गई है या फिर रद्द कर दी गई है। इसी बीच आंध्रप्रदेश की सरकार ने शुक्रवार 20 अप्रैल को कहा 10 वीं और 12 वीं की बोर्ड परीक्षाएं तय किए गए शेड्यूल के अनुसार ही आयोजित की जाएगी। हालांकि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए छात्रों और विपक्षी पार्टियों ने परीक्षाएं रद्द या फिर स्थगित करने की मांग की थी। लेकिन सरकार ने कहा है परीक्षाएं पूरी सुरक्षा के साथ ली जाएगी, कोरोना के सभी गाइडलाइंस को ध्यान में रखा जाएगा। 

राज्य के मुख्यमंत्री वाई.एस जगनमोहन रेड्डी  ने बैठक में सभी अधिकारियों को कोरोना के सभी गाइडलाइंस को पालन करते हुए परीक्षा आयोजित करने के लिए कहा है। इस के साथ उन्होंने अधिकारीयों को इस बात की पुष्टि करने को कहा की छात्रों को किसी भी तरह का नुक़सान ना हो और परीक्षाएं भी सुरक्षा के साथ आयोजित हो। परीक्षा के दौरान किसी भी प्रकार की ढीलाई ना दिखाएं, सभी नीयमों का सावधानी से पालन करें।

सरकार ने कहा है बोर्ड परीक्षाओं के जैसे डिग्री और इंजीनियरिंग परीक्षाएं भी कोरोना के सभी प्रोटोकॉल्स के साथ लिए जाएंगे। लेकिन छात्र-छात्राएं और विपक्षी पार्टियां जिसमें जन सेना, बीजेपी, कांग्रेस जैसी पार्टियां शामिल हैं लगातार सरकार के इस निर्णय का विरोध कर रहे हैं। उनका कहना है, जहां पूरे देश में दहशत का माहौल बना हुआ है वहां सरकार का ऐसा फैसला विद्यार्थियों का जीवन को संकट में डाल सकता है। 

सरकार के इस निर्णय से आप कितने सहमत हैं ?