मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Biography) का जन्म 16 अगस्त 1968 को हरियाणा के भिवानी जिले के शिवानी में अग्रवाल परिवार में हुआ था। गोविंदा राम केजरीवाल और गीता देवी के तीन बच्चों में  यह उनकी पहली संतान थे। हालांकि इनके पिता एक इलेक्ट्रिकल इंजीनियर थे जिन्होंने बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी मेसरा से स्नातक किया था। हम यहां बात कर रहे हैं केजरीवाल के प्रारंभिक जीवन की जहां उन्होंने अपने जीवन की शुरुआत की केजरीवाल ने अपना अधिकांश बचपन उत्तर भारतीय शहरों जैसे सोनीपत, गाजियाबाद, और हिसार में बिताया। उनकी शिक्षा हिसार के कैंपस स्कूल और सोनीपत के होली चाइल्ड स्कूल में संपन्न हुई।
1985 में इन्होंने आईआईटी कि प्रवेश परीक्षा दी और इन्होंने अच्छा रैंक भी पाया। जिसमें इन्होंने 563 का अखिल भारतीय रैंक प्राप्त किया। उन्होंने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान खड़गपुर से स्नातक की उपाधि प्राप्त की। मैकेनिकल इंजीनियरिंग में पढ़ाई की फिर इन्होंने सबसे पहले 1989 में टाटा स्टील में शामिल हुए और जमशेदपुर बिहार में तैनात थे। यह भी पढ़ें-भगत सिंह के शहीद दिवस पर जानते हैं, उनके जीवन के किस्से
केजरीवालने 1992 में सिविल सेवा परीक्षा के अध्ययन के लिए अनुपस्थिति की छुट्टी लेने के बाद अपना इस्तीफा दे दिया था। कुछ समय कोलकाता में बिताया जहां उन्होंने मदर टेरेसा से मुलाकात की और मिशनरीज ऑफ चैरिटी और उत्तर पूर्व भारत में रामकृष्ण मिशन और नेहरू युवा केंद्र में स्वेच्छा से काम किया। इन्होंने बचपन से लेकर अपने युवावस्था तक काफी संघर्ष किया और अच्छे पद पर बने रहे।
 
कैसा रहा है राजनीतिक जीवन?
CM केजरीवाल ने अपनी एक पुस्तक लिखी जिसका नाम है (स्वराज में भ्रष्टाचार) इस पुस्तक में भारतीय लोकतंत्र की स्थिति पर अपने विचार दिए हैं और चर्चा की है। उन्होंने सरकार के विकेंद्रीकरण और स्थानीय निर्णय और बजट में पंचायत की भागीदारी की वकालत की है। उनका दावा है कि केंद्र सरकार की निर्णय लेने की प्रक्रिया में विदेशी बहुराष्ट्रीय नियमों के पास बहुत अधिक शक्ति है और केंद्र के राजनेताओं को उनके कार्यों और उनके चुनाव के बाद निष्क्रियता के लिए जिम्मेदार नहीं ठहराया जा रहा है।
आपको बता दें कि 2013 में पहली बार दिल्ली विधानसभा चुनाव में सभी 70 सीटों के लिए भारतीय जनता पार्टी ने 31 सीटों पर जीत हासिल की उसके बाद आम आदमी पार्टी ने 28 सीटों पर जीत हासिल की। केजरीवाल, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की मौजूदा मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को उनके निर्वाचन क्षेत्र नई दिल्ली से 25,864 मतों के भरी अंतर से हराकर पहली बार दिल्ली के मुख्यमंत्री बने। केजरीवाल ने 28 दिसंबर 2013 को चौधरी ब्रह्मा प्रकाश के बाद दिल्ली के दूसरे सबसे कम उम्र के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण किया। जो 34 साल की उम्र में (Delhi daily news) मुख्यमंत्री बने वे दिल्ली के प्रभारी थे। गृह बिजली योजना वित्त सेवा और सतर्कता मंत्रालय शामिल था। यह भी पढ़ें-स्मृति ईरानी का जीवन परिचय राजनीतिक व बेहतरीन अदाकारा हैं
14 फरवरी 2014 को उन्होंने दिल्ली विधानसभामें जनलोकपाल विधेयक पेश करने में विफल रहने के बाद मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। विधानसभा भंग करने की सिफारिश की केजरीवाल ज्यादातर भ्रष्टाचार विरोधियों के नाम से जाने जाते हैं।केजरीवाल का मानना है कि देश में भ्रष्टाचार रहेगा तो युवाओं के ऊपर अच्छा प्रभाव नहीं पड़ेगा। उन्होंने भ्रष्टाचार विरोधी कानून को रोकने के लिए भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस और BJP को दोषी ठहराया और इसे रिलायंस इंडस्ट्री के अध्यक्ष और कार्यकर्ता प्रबंधक निर्देशक उद्योगपति मुकेश अंबानी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने के सरकार के फैसले से जुड़ा।
अप्रैल 2014 में उन्होंने कहा कि उन्होंने अपने फैसले के पीछे के तर्क को सार्वजनिक रूप से बताएं बिना रिजाइन देकर गलती की है। हालांकि मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद केजरीवाल होश में नहीं थे क्योंकि उन्होंने सोचा ना समझा उठाकर इस्तीफा देकर चले आए। वो कहते हैं ना बिना विचारे जो करे सो पाछे पछताए ठीक वैसा ही हाल थी सीएम केजरीवाल कि। केजरीवाल ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने से पहले जनवरी में कहा था कि वह 2014 के लोकसभा चुनाव में 1 सीट नहीं लड़ेंगे पार्टी के सदस्यों ने उन्हें अपना मन बदलने के लिए राजी किया। और जब वो राजी हुए तो देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ ही लड़ना शुरू कर दिए। और 25 मार्च को वे वाराणसी से भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने के लिए सहमत हुए। वह प्रतियोगिता लगभग 3,70000 मतों के अंतर से हार गए। यह भी पढ़ें-पंजाब की सरकार दिखी एक्शन में 13 जिलों के एसएसपी का हुआ तबादला
 
व्यक्तिगत जीवन?
इनकी व्यक्तिगत जीवन की बात करें तो इनकी शादी 1995 में 1993 बैच की आईएएस अधिकारी सुनीता से हुई। 2016 में आयकर अपीलीय न्यायाधिकरण में आयकर आयुक्त के रूप में स्वैच्छिक सेनानिवृत्ति ली है। इनकी एक बेटी हर्षिता और एक बेटा पुलकित है। अरविंद केजरीवाल हिंदू धर्म का पालन करते हैं। केजरीवाल शाकाहारी और कई वर्षों से दीपक श्याम ध्यान तकनीक का अभ्यास कर रहे हैं।
फिट एंड फाइन दिखने वाले अरविंद केजरीवाल मधुमेह के रोगियों में से एक हैं। 2016 में खांसी से बहुत ज्यादा परेशान होकर इन्होंने सर्जरी कराई थी जिससे अभी इनको राहत है। इनकी वर्तमान उम्र 53 साल की है।
यह भी पढ़ें- 

पपीते से करें गर्मियों की टैनिंग से अपना बचाव

इन चीजों के परहेज से होगा आपका केलोस्ट्रोल लेवल कंट्रोल