कोरोना वैक्सीन की कीमत को लेकर केंद्र और राज्य सरकार के बीच सियासी बयानबाजी जारी है। इसी बीच भारत बायोटेक द्वारा बनाई गई वैक्सीन (कोवैक्सीन) के दाम भी तय किए जा चुके हैं। जिसके तहत निजी अस्पतालों को यह वैक्सीन 1200 रुपए में और राज्य सरकार को 600 रुपए में मिलेगी।

भारत बायोटेक ने शनिवार को कोवैक्सीन के दाम तय किए हैं। जिसके अंतर्गत राज्य सरकार को यह वैक्सीन ₹600 में, केंद्र सरकार को ₹150 में और निजी अस्पतालों को ₹1200 में दी जाएगी। वहीं  एक्सपोर्ट ड्यूटी की कीमत 15-20 डॉलर तय की गई है।

हाल ही में सिरम इंस्टीट्यूट ने कोविशील्ड के दाम भी तय किए थे। अगर कोविशील्ड की तुलना कोवैक्सीन से की जाए तो भारत बायोटेक की वैक्सीन महंगी है। जहाँ निजी अस्पतालों में कोविशील्ड की कीमत 600 रुपए और राज्यों के लिए 400 रुपए है। वहीं कोवैक्सीन की कीमत निजी अस्पतालों के लिए 1200 रुपए और राज्यों के लिए 600 रुपए तय की गई है।

भारत बायोटेक ने इस के संबंधित में कहा है कि सरकार के निर्देशों के अनुसार कोवैक्सीन के डोज़ की कीमतों की घोषणा की गई है।

गौरतलब है कि एक ही देश के अंदर अलग-अलग राज्यों में एक वैक्सीन की अलग-अलग कीमत तय की गई है। इसके पीछे ठोस वजह क्या है यह अब तक पता नहीं चल पाया है। लेकिन यह बात सोचने वाली है कि एक देश में एक वस्तु की कीमत में इतना बड़ा अंतर क्यों है? और वह वस्तु और कुछ नहीं वैक्सीन है, जिसकी पूरे देश को अभी सबसे ज्यादा ज़रूरत है।